New Year 2021: COVID-19 के कारण इन शहरों में पार्टियों, सामाजिक समारोहों पर प्रतिबंध

new year party ban

भारत में लगातार बढ़ते COVID-19 के मामलों के बीच, New Year 2021 के सामाजिक समारोहों और पार्टियों पर देश के कई शहरों में प्रतिबंध(BAN) लगाया गया है।

ये प्रतिबंध उन शहरों में लगाया जा रहा है जो पहले से ही COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए रात के कर्फ्यू के तहत हैं।

किन शहरों में है प्रतिबंध

NEW YEAR 2021

अहमदाबाद –


चूंकि गुजरात के अहमदाबाद में रात कर्फ्यू पहले से ही लगा हुआ है, इसी के चलते इस साल 31 दिसंबर को अहमदाबाद में (NEW YEAR PARTY BAN)कोई पार्टी नहीं होंगी।

पुलिस उपायुक्त (नियंत्रण कक्ष) हर्षद पटेल ने कहा कि जो लोग नियम को तोड़ने की कोशिश करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए शहर भर में पुलिस तैनात की जाएगी।

पुलिस के मुताबिक

9 बजे से पहले नए साल की पार्टियों में शामिल होने वालों लोगो को COVID-19 के नियमों का पालन करना चाहिए | नियमों मे शामिल जैसे सामाजिक दूरी और मास्क पहनना।

हिमाचल प्रदेश –

हिमाचल प्रदेश सरकार ने 14 दिसंबर सोमवार को घोषणा की कि COVID-19 महामारी के कारण शिमला, कुल्लू, कांगड़ा और मंडी में नए साल के जश्न की अनुमति नहीं दी जाएगी।

सोमवार को राज्य सरकार ने 5 जनवरी तक इन चार जिलों में रात के कर्फ्यू बढ़ा दिया गया है।

रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक मंडी, कुल्लू, शिमला और कांगड़ा जिलों में रात का कर्फ्यू रहेगा। इससे पूर्व, 23 नवंबर से 15 दिसंबर तक इन शहरों में रात का कर्फ्यू लगाया गया था।

वही केंद्र ने सारे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को देश में इस महामारी के खिलाफ इस की वैक्सीन की प्रत्याशा में COVID-19 इनोक्यूलेशन ड्राइव के दिशानिर्देश जारी कर दिए है |

सरकार पहले ही घोषणा कर चुकी है कि COVID-19 वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन श्रमिकों और 50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को दी जाएगी।

इसके बाद 50 साल से कम उम्र के व्यक्तियों द्वारा विकसित कॉमरेडिडिटी के साथ संबंधित COVID-19 महामारी की स्थिति के आधार पर, और अंत में रोग महामारी विज्ञान और वैक्सीन की उपलब्धता को देखते हुए शेष जनता के लिए किया ।

Sweety Jain

Written by Sweety Jain

Sweety Jain has experience in content writing and Search engine optimization. Passionate about researching and learning new skills. Feel free to contact her at sweety@liveakhbar.in

Leave a Reply

Avatar

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Brands and logos

Not Indian Brand:ब्रांड जो हम इस्तेमाल करते हैं लेकिन वे भारतीय नहीं

कामधेनु आयोग ने सभी विश्वविद्यालयों को कामधेनु कमिटी सेटअप करने के निर्देश दिए