January 23, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

mount everest new height

Mount Everest: बढ़ी ऊंचाई, जाने कारण, नेपाल और चीन ने की घोषण

Mount Everest New Height

विश्व की सर्वाधिक ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) की नई ऊंचाई 8,848.86m है| मंगलवार को नेपाल और चीन ने संयुक्त रूप से माउंट एवरेस्ट की नई ऊंचाई की घोषणा की |

इस अवसर पर नेपाली विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली और चीनी विदेश मंत्री वांग यी दोनों उपस्थित थे।

प्रदीप ग्यावली ने काठूमांडू में वर्चुअल कार्यक्रम से माउंट एवरेस्ट की नई ऊंचाई की घोषणा |

नेपाली विदेश मंत्री ने इस अवसर पर कहा –

विशेष और ऐतिहासिक क्षण

चीनी विदेश मंत्री ने भी कहा –


चीन नेपाल हमेशा मित्रता रहेंगे और दोनों देश साथ में एक का चमकदार भविष्य बनाएंगे |

वहीं इससे पहले चीन के पिछले माप के मुताबिक, माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8844.43m है, जो नेपाल की गणना से 4m कम थी |

सर्वेक्षण कर्ताओं ने माउंट एवरेस्ट पर स्केलमाप और वैज्ञानिक अनुसंधान के छेद और आयोजित किए हैं।

माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई –


1954 – 8,848.13m
2005 – 8,848.43m

पिछले 1 साल से नेपाल और चीन माउंट एवरेस्ट की नई ऊंचाई की माफ कर रहा था।

बढ़ी ऊंचाई को माप का कारण –

नेपाल में 2015 में आए भयंकर भूकंप के बाद से ही यह माना जा रहा था कि माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8,848m नहीं रही है | इसलिए नेपाल ने विश्व की सबसे ऊंचे चोटी की ऊंचाई मापने की तैयारी की थी |

भूकंप वैज्ञानिकों के मुताबिक,

माउंट एवरेस्ट भारती प्लेट और यूरेशि़न प्लेट के किनारों के बीच स्थित है, जहां भूगर्भीय बदलाव तेजी से हो रहा है।

यही कारण है, माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई माप ने का कारण है।

इससे पूर्व 1954 में ऊंचाई मापी गई थी –

इससे पूर्व 1954 में भारत के सर्वे ऑफ इंडिया व्दारा के मुताबिक माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8,848m थी, जो अभी के माप से करीब 86cm अधिक है | बर्फबारी के कारण एवरेस्ट की ऊंचाई में यह बढोत्तरी हुई है |