Connect with us

Hi, what are you looking for?

News

The Great conjunction:सालों बाद बृहस्पति व शनि आएंगे इतने करीब

Great conjunction

अंतरिक्ष में ऐसी कई घटनाएं होती है जो हमें आश्चर्यचकित कर देती हैं। ग्रहों से लेकर सौरमंडल तक आज तक हमने कई घटनाएं देखीं हैं। ऐसा ही कुछ इस वर्ष होने वाला है। करीब 400 साल बाद होने वाले इस घटना (The Great conjunction) को बेहद दुर्लभ माना जाता है। इस अनोखे नजारे में हम बृहस्पति और शनि को बेहद करीब देखेंगे। जानकर हैरानी होगी की इन दोनों ही ग्रहों की दूरी बेहद कम होगी। यह अद्भुत संयोग 21 दिसंबर को देखने को मिलेगा।

आइए विस्तार से इस घटना के बारे में जानते हैं।

उपग्रह भी आएंगे नजर


चांदी के समान चमकीले रंग के छल्लो में लिपटा शनि ग्रह के साथ उसके उपग्रह भी नजर आएंगे। टाइटन व रेया इसके उपग्रह है। बृहस्पति के भी चार उपग्रह हैं। गायनामिड, कैलेस्टो, आईओ व यूरोपा भी इस दौरान साथ में दिखेंगे।
भारत के अधिकतर शहरों में सूर्यास्त के बाद लोग इस घटना का दीदार कर सकते हैं।

‘ग्रेट कंजंक्शन’ है नाम


वैज्ञानिकों ने इस बेहद ही दुर्लभ खगोलीय घटना को ‘ग्रेट कंजंक्शन’ नाम दिया है। इस घटना की रोचकता और भी बढ़ जाती है क्योंकि यह घटना साल के सबसे छोटे दिन यानी 21 दिसंबर को होने वाली है। इस दिन हम अपनी नग्न आंखों से इसे देख सकते हैं। सबसे पहले सन् 1623 में इस घटना को महान वैज्ञानिक गैलीलियो ने देखा था।

क्या है ग्रेट कंजंक्शन

Great conjunction
The great conjunction 2020


जैसा कि हम सभी जानते हैं हमारे सौरमंडल में कुल 8 ग्रह है। अगर दूरी के हिसाब से देखा जाए तो बृहस्पति पांचवा और शनि छठा ग्रह है। बृहस्पति को 11.86 साल जबकि शनि को सूर्य की प्रतिमा लगाने में 29.5 साल लगते हैं। करीब 19.6 साल में यह दोनों की ग्रह सूर्य की परिक्रमा करते समय एक दूसरे के बहुत ही करीब आ जाते हैं। बृहस्पति और शनि ग्रह की इसी स्थिति को ग्रेट कंजंक्शन कहा जाता है।
जब दो खगोलीय पिंड पृथ्वी से एक दूसरे के बहुत करीब नजर आते हैं तो इसी घटनाक्रम को ‘कंजंक्शन’ कहा जाता है।

हर 20 साल में आते हैं करीब

  • दोनों ही ग्रह बृहस्पति और शनि हर 20 साल में करीब आते हैं।
  • ऐसा 400 साल बाद हो रहा है जब इन दोनों ही ग्रहों के बीच की दूरी केवल 0.06 डिग्री रहेगी।
  • इन दोनों के चंद्रमा को भी 1 डिग्री के अंतराल में देखने का अवसर होगा।
  • 1623 में यह दोनों ग्रह इसके पहले इतने करीब आए थे।
  • 2020 में 21 दिसंबर को ऐसा देखने को मिलेगा।
  • इस दौरान इनके बीच की दूरी करीब 73.5 करोड़ किलोमीटर होगी।
  • उसके बाद यह घटना 15 मार्च सन 2080 में वापस घटेगी।

ALSO READ: 2022 में मिलने वाला है New Parliament House,कैसी होगी डिजाइन?

https://www.liveakhbar.in/2020/12/new-parliament-house.html

Avatar
Written By

Garima has knowledge about SEO and experience in content writing. Garima is passionate about content writing, video editing, website designing, and learning new skills. Reach her at garima@liveakhbar.in

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

News

अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जो बाहरी अंतरिक्ष और ग्रहों की चाल में रुचि रखते हैं, तो आज रात विशेष होगी। आज रात, मंगल ग्रह...