January 23, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

farmers protest against farm bill

भारत बंद : जाने तमाम राज्यों में कैसी रहने वाली है स्थिति

हज़ारों की तादाद में किसान एक जुट हो चुके हैं। 26 नवंबर से लगातार किसान, सरकार द्वारा जारी किए गए तीन कृषि विधेयकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। जिसके चलते राजधानी दिल्ली के कुल 7 बॉर्डर्स को पूरी तरह बंद कर दिया गया है। इस विरोध प्रदर्शन को चलते 2 हफ्ते बीत चुके हैं। इसी विरोध के चलते आज यानी मंगलवार को किसानों द्वारा “nationwide strike (राष्ट्रीय हड़ताल)” घोषित कर दी गई है। ये हड़ताल सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक के लिए है।

साथ ही आपको बता दे की इस विरोध को कई “political parties” और केंद्र के “10 trade union” ने मिलकर सहायता दि है और किसानों के साथ खड़े हुए हैं। इन “political parties” में कई बड़ी पार्टी या कह सकते हैं “opposition” शामिल है, जैसे – कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (AAP), तृणमूल कांग्रेस (TMC), नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP), शिव सेना, समाजवादी पार्टी (SP), तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS), लेफ्ट पार्टियां, द्रविड़ मुनेत्र कषगम (DMK), झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM), और इंडियन नेशनल लोक दल (INLD). इसके अतिरिक्त कई “taxi union” भी भारत बंद के समर्थन में आए हैं जिसकी वजह से लोगों की यात्रा बाधित हो गई है।

ग्रह मंत्रालय का सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहना है कि, राज्य और केंद्र शासित प्रदेश हड़ताल और विरोध प्रदर्शन, जो कि किसानों द्वारा सरकार के बनाए हुए कृषि विधेयकों को वापस लेने के लिए किया जा रहा है, उसके दौरान covid – 19 से बचाव के लिए बनाई गई गाइडलाइंस का महत्वपूर्ण ढंग से ध्यान रखें।

तमाम राज्यों की स्थिति :

दिल्ली : दिल्ली सरकार और पूरी आम आदमी पार्टी (AAP) किसानों के शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन और भारत बंद के समर्थन में उतरी है। साथ ही दिल्ली पुलिस ने सोमवार को कहा है कि “जो भी व्यक्ति यातायात या लोगों के आने – जाने को बाधित करेंगे या दुकानें जबरन तरीके से बंद करेंगे उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। साथ ही किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए दिल्ली की सीमाओं पर हज़ारों सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया और 4000 यातायात भी उपलब्ध कराए।

बिहार : जैसा कि हम जानते हैं कि बिहार में बीजेपी के गठबंधन की सरकार है, लेकिन उसके बाद भी, विपक्षी दल में राष्ट्रीय जनता दल (RJD), कांग्रेस और लेफ्ट पार्टीज ने भारत बंद का समर्थन किया है। लेकिन इस पर पूरी तरह से शासन बीजेपी और जेडीयू का है। तेजस्वी यादव की पार्टी आरजेडी ने राज्य में विरोध प्रदर्शन की घोषणा कर दी है जिसकी वजह से बिहार में बड़ी रुकावटें आ सकती हैं।

हरियाणा : हरियाणा के उपमुख्यमंत्री के नेतृत्व वाली पार्टी जननायक जनता दल (JJP) के पांच विधायकों ने विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया है। राज्य के प्रमुख बाजारों और किसानों के राजमार्गो को ब्लॉक करने की योजना के साथ बंद रहने की उम्मीद है। साथ ही हरियाणा की पुलिस के director general (law and order) नवदीप सिंह वर्क ने कहा कि “मंगलवार को राज्य के विभिन्न सड़को और हाईवे पर यात्रा करते समय blockages का सामना करना पड़ेगा ।”

उत्तर प्रदेश : सभी राज्यों की तरह यूपी में भी विपक्षी दल का पल्डा भारी देखा गया। कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, और बहुजन समाज पार्टी सहित कई विपक्षी डाल बंद के समर्थन में आए हैं। यूपी के कई प्रदर्शनकारियों ने राजधानी दिल्ली तक मार्च किया। पश्चिमी यूपी में किसान यूनियन का प्रभाव होने के कारण वहां प्रदर्शन का बड़ा असर हो सकता है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि “किसी भी कीमत पर शांति और व्यवस्था के साथ समझौता नहीं होना चाहिए, और ये भी सुनिश्चित किया कि मंगलवार को बंद के दौरान लोगों को किसी भी समस्या का सामना ना करना पड़े।”

पंजाब : विरोध प्रदर्शन का मुख्य भाग उत्तरी राज्य, पंजाब और हरियाणा में ज़्यादा देखने को मिला है। तो ज़ाहिर है इन राज्यों में भारत बन्द का समर्थन किया गया है। सभी राजनीतिक दल, व्यापारियों, truck association ने जमकर बंद का समर्थन किया है। पंजाब में सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) ने मंगलवार को कहा कि हरताल पूरी होगी।