January 23, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

UNIQUE ECO BRIDGE FOE RAPTILES

UNIQUE ECO BRIDGE FOE RAPTILES

ECO BRIDGE-वन विभाग द्वारा बनाया गया 90 फुट का अनोखा पुल

केवल प्राकृतिक चीजों के इस्तेमाल से यह पुल बनाया गया है

उत्तराखंड वन विभाग द्वारा प्रदेश का पहला इको ब्रिज तैयार किया गया है।

यह ब्रिज इंसानों के लिए नहीं बल्कि जमीन पर रेंग कर चलने वाले “सरीसृप प्रजातियों” के लिए तैयार किया गया है।

वन विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि हाईवे क्रॉस करने के दौरान वाहन से कुचलकर मारने वाले सरीसृप की जिंदगी बचाने के लिए प्रयास रामनगर वन विभाग ने किया है।

Unique eco bridge

Its purpose is to protect the raptiles (snake,squirrels,python) who are killed in a road accident.

जाने कहां स्थित है इको ब्रिज-

यह पल नैनीताल के रामनगर फॉरेस्ट डिविजन में बनाया गया है।

जिस हाईवे पर यह बना है वह नैनीताल आने जाने का मुख्य मार्ग है।

मुख्य मार्ग होने के कारण यहां से ज्यादा मात्रा में वाहन आते जाते रहते हैं। बताया जाता है कि टूरिस्ट सीजन में यहां से गुजरने वाली गाड़ियों की संख्या बढ़ जाती है।

इन गाड़ियों की चपेट में आकर बहुत सारे रेंगने वाले जीव बेमौत मारे जाते हैं।

इस पुल को बनाने का मुख्य उद्देश्य यह है कि सरीसृप जीवो को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाया जा सके।

इको ब्रिज की बनावट के बारे में जाने-

यह पुल बनाने में तकरीबन 2 लाख रुपए खर्च किए गए हैं। यह अनोखा इको ब्रिज 90 फुट लंबा, 5 फुट चौड़ा और सड़क से 40 फुट ऊंचाई पर स्थित है ‌।

इस पुल को बनाने में 10 दिन का समय लगा।

इस पूरे पुल को बांस,जूट और घास का इस्तेमाल करके बनाया गया है। वन अधिकारियों का कहना है कि इस पुल की बनावट में सीमेंट,रेत जैसी अन्य चीजों का इस्तेमाल नहीं किया गया है।

यह इको ब्रिज है इसी कारण से इसमें केवल जूट की रस्सी, बांस , पतियों का उपयोग किया गया है। पुल में चार कैमरे भी लगाए गए हैं।

कैमरे लगाने का उद्देश्य यह है कि पता चल सके कौन से जीव इस पुल का इस्तेमाल कर रहे हैं।

QUICK UPDATES

▪️Unique Eco Bridge built in Uttarakhand.

▪️A unique initiative taken by the Forest Department.

▪️This eco bridge, built to save reptile life!


▪️A total of 90 feet long 5 feet wide bridge was completed in 10 days.

▪️This bridge built for only ₹ 2 lakh.