2022 में मिलने वाला है New Parliament House,कैसी होगी डिजाइन?

New Parliament House

हमारे देश में जो संसद भवन मौजूद है उसे अंग्रेजों ने 1927 में निर्मित किया था। इसे बनने में कुल 6 साल का समय लगा था और इसकी लागत 83 लाख रुपए आई थी। मौजूदा संसद भवन का उद्घाटन 1927 के तत्कालीन गवर्नर जनरल लॉर्ड इरविन ने किया था। लेकिन अब जल्द ही हमें 2022 में नया संसद भवन (New Parliament House) मिलने वाला है।
कहा जा सकता है कि स्वतंत्रता के 75 वर्ष में संसद भवन की नई इमारत में संसद सत्र संभवत: हो सकता है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला का यह कहना है। उन्होंने बताया कि इस संसद भवन का शिलान्यास 10 दिसंबर को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किया जाएगा। दोपहर 1 बजे नरेंद्र मोदी इस कार्य को पूर्ण करेंगे।

सभी राजनीतिक दलों को आमंत्रण


10 दिसंबर को इस नए संसद भवन का शिलान्यास प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किया जाएगा। इस मौके पर सभी राजनीतिक दलों को आमंत्रण दिया गया है। कई मौके पर मौजूद रहेंगे। वहीं दूसरी ओर कई ऐसे भी हैं जो डिजिटल माध्यम से समारोह में जुड़ेंगे। साथ ही इस कार्यक्रम में कोरोना वायरस से संबंधित सारी दिशा निर्देशों का पालन भी होगा।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कार्यक्रम के लिए शनिवार को औपचारिक निमंत्रण दे दिया है।

होगा भूकंप रोधी


भूकंप रोधी क्षमता के साथ संसद की इस नई इमारत को बनाया जाएगा। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के कथन के अनुसार नए भवन के निर्माण के दौरान ध्वनि एवं वायु प्रदूषण को भी नियंत्रित करने के लिए उपाय किए गए हैं। इसके निर्माण की सारी जिम्मेदारी सितंबर में 861.90 करोड़ रुपए की लागत से टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड को मिला था। नया संसद भवन 65,000 वर्ग मीटर में बनने वाला है। साथ ही यह वर्तमान संसद भवन के नजदीक बनाया जाएगा। सीधे तौर पर दो हजार लोग और परोक्ष भागीदारी में 9000 लोग इसके निर्माण में शामिल होंगे। भूकंप रोधी इमारत त्रिकोणीय होगा। आसमान से तीन रंगों की किरणें दिखेंगी। ना केवल ये इमारत त्रिकोणीय है बल्कि तीन मंजिला भी है। 2022 में अक्टूबर माह तक इसका निर्माण कार्य पूरा हो जाने की उम्मीद है।

संसद सत्र का आयोजन आजादी के 75 साल पूरा होने के मौके पर इस नई इमारत में की जा सके।

होंगी 484 अधिक सीटें


सभी को बता दे कि नये संसद भवन में एक साथ 1,224 सांसद बैठ सकते हैं। मौजूदा संसद भवन से इसमें 484 सीट अधिक है नई इमारत में 888 लोकसभा और 384 राज्यसभा सदस्य बैठ सकेंगे। ऐसा सदस्यों की संख्या में बढ़ोतरी किए जाने की संभावना से किया जा रहा है। लोकसभा का आकार मौजूदा सदन से 3 गुना ज्यादा होगा। नई इमारत में लोकसभा, राज्यसभा और एक खुला आंगन होगा। ऐसा हमें इसकी डिजाइन को देखने से पता चलता है।
अगर हम मौजूदा संसद भवन से नए संसद भवन की तुलना करें तो नए सदन में सांसदों के बैठने की व्यवस्था को लेकर कई सारे सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं।

एक टेबल पर दो सांसद बैठेंगे। उनके बैठने की जगह को ज्यादा खुली और आरामदेह बनाई जाएगी।

होगा विशाल संविधान कक्ष

indian  parliament house


नए संसद भवन का सबसे बड़ा आकर्षण होगा विशाल संविधान कक्ष। इस कक्ष में भारत की लोकतांत्रिक विरासत को दर्शाने वाली तमाम चीजें रखी जाएंगी। इसमें संविधान की मूल प्रति और डिजिटल डिसप्ले भी शामिल होगी। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि संसद में आने वाले विदेशी डेलिगेशन भारत की लोकतंत्र को आसानी से समझ पाएंगे।

Highlights:

  • The new building is based on the theme of celebrating the cultural diversity of the country.
  • Will be built in an area of 65,000 square metre.
  • Total expense of Rs.971 crore.
  • Tata projects limited has the contract for the project.
  • A total of 1,224 seats for MPs.
  • New Parliament House will be in a triangular structure.
  • Will have a ceremonial entrance.
  • One for the speaker of Lok Sabha and chairman of Rajya Sabha.
  • New Parliament House will be earthquake resistant.
  • Will have a grand constitution hall.
  • It involves two thousand people directly and 9000 people indirectly.

ALSO READ: Indian Navy Day: जानें इतिहास, महत्व और महत्वपर्ण तथ्य

https://www.liveakhbar.in/2020/12/indian-navy-day.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status