January 23, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

MDH OWNER DHRAMPAL GULATI PASSED AWAY

MDH OWNER DHRAMPAL GULATI PASSED AWAY

MDH मसाला कंपनी के CEO महाशय धर्मपाल गुलाटी का निधन

The death of Mahashy Dharmapala Gulati, CEO of MDH Spices Company

महाशय धर्मपाल गुलाटी जी का निधन 98 वर्ष की आयु में हुआ।

खबरों के मुताबिक बताया जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों से वे अस्पताल में भर्ती थे । सुबह 5 बजकर 38 मिनट पर उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली।अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से उनकी मृत्यु हुई।

कुछ दिनों पहले धर्मपाल जी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

MDH OWNER DHRAMPAL GULATI PASSED AWAY

महाशय धर्मपाल गुलाटी जी का जन्म सन 1922 में पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था । धर्मपाल जी के पिता चुन्नीलाल जी भारत पाकिस्तान के बंटवारे के बाद दिल्ली में आकर बस गए।

मसालों के कारोबार की शुरुआत कैसे हुई-

मसालों के बादशाह ने अपनी स्कूली शिक्षा पांचवी कक्षा में ही समाप्ति की,उसके बाद वह अपनी पढ़ाई जारी रखने में असफल रहे । पढ़ाई समाप्त होने के बाद उन्होंने अपने पिता की मदद से शीशे का छोटा सा व्यापार शुरू किया ।

शीशे के व्यापार के बाद उन्होंने साबुन और कई अन्य व्यापार भी शुरू किए परंतु उनके मन को संतुष्टि ना मिली । किसी कारोबार में उनका मन नहीं लगा।

सियालकोट के बाजार पंचारिया में धर्मपाल जी के पिता चुन्नीलाल जी की मिर्च मसाले की दुकान थी। दुकान का नाम था ”महाशिंया दी हट्टी‘ (MDH) । यह छोटी सी दुकान आज मसालों की दुनिया में सबसे बड़ा ब्रांड बन कर उभरी । समय बीत गया और महाशिंया दी हट्टी मशहूर होती गई।

सन 1995 में महाशिंया दी हट्टी (MDH)की पहली फैक्ट्री शुरू हुई।

उपलब्धियां-

महाशय धर्मपाल गुलाटी जी को पिछले वर्ष देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान” पद्म भूषण ” से सम्मानित किया गया था।धर्मपाल गुलाटी जी को मसालों की दुनिया का बेताज बादशाह भी कहा जाता है।

साल 2017 में धर्मपाल जी को किसी भी FMCG कंपनी का सबसे ज्यादा वेतन पाने बाला CEO घोषित किया गया। अपने पूरे जीवन काल में धर्मपाल जी ने काफी उपलब्धियां प्राप्त की।

सफलता का राज-

महाशय धर्मपाल गुलाटी जी हमेशा कहा करते थे कि “जिंदादिली इसी का नाम है, मुर्दा क्या खाक जिया करते हैं”। इससे स्पष्ट होता है कि महाशय एक जिंदादिल व्यक्ति थे। उनका कहना था कि अगर कोई व्यक्ति अच्छा काम करता है तो वह मरने के बाद भी लोगों के दिलों में जिंदा रहता है। महाशय की सफलता का राज ग्राहकों के प्रति उनकी ईमानदारी है।

MDH OWNER DHRAMPAL GULATI PASSED AWAY

QUICK UPDATE

▪️Death of a spicy king!

▪️ Dharmpal was the highest paid CEO in 2017!

▪️ Mahashay Dharampal Gulati ji was awarded the Padma Bhushan, the country’s third highest civilian honor last year.

▪️ At 5:38 in the morning, he breathed his last.

▪️ IN 2017 HE WON PADMA BHUSHAN