Pop Culture Hub

corona vaccine
Anime

क्या सब को आसानी से मिलेगी corona vaccine ??

Which challenges will be faced after getting the finals to the vaccine

वैक्सीन को फाइनल अप्रूवल मिलने के बाद कौन-कौन सी चुनौतियों का करना पड़ेगा सामना

दुनिया की कई कंपनियों कोरोना की असरदार वैक्सीन को लेकर बड़े-बड़े दावे कर रही हैं। क्या है उन दावों का सच , वैक्सीन को फाइनल अक्टूबर मिलने के बाद सामने कौन सी चुनौतियां खड़ी होंगी ?

हर देश की जनता का एक ही सवाल है कब बनेगी कोरोना की वैक्सीन, कब जिंदगी फिर से पटरी पर वापस आएगी, कब लोग पहले की तरह बिना मास्क लगाए घूम सकेंगे। वैसे तो किसी भी वायरस की वैक्सीन बनाने में दशकों का समय लगता है पर कोरोना महामारी को व्यापक रूप में फैलते हुए देखकर वैज्ञानिक और कंपनियां सभी वैक्सीन बनाने की तैयारी में जुट गए।

खबरें आ रही है कि काफी जल्दी कोरोना की वैक्सीन लॉन्च कर दी जाएगी। वैज्ञानिक और कंपनियां वैक्सीन बनाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं, ताकि लोगों की जान बचा सके। वैक्सीन को लेकर हर तरफ से खुश खबर ही आ रही है किसी कंपनी का कहना कि हमारी वैक्सीन 70% तो किसी कंपनी का कहना है कि हमारी वैक्सीन 90% तक सही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री द्वारा यह बयान सामने आया है कि तीन-चार माह के अंदर भारत को भी वैक्सीन मिल जाएगी।

Oxford और Extrazenica की वैक्सीन को लेकर काफी अच्छे नतीजे सामने आए हैं। अच्छी बात यह है कि इस वैक्सीन की करोड़ों डोज भारत में तैयार भी हो रही हैं। Oxford और Extrazenica की वैक्सीन दूसरी कंपनियों की वैक्सीन के मुकाबले में ये सस्ती है और इन्हें स्टोर करने में आसानी भी होगी। ज्यादा आबादी वाले देश के लिए यह बेहतर विकल्प है।

भारत को बड़े पैमाने पर टीकाकरण करने का काफी अच्छा अनुभव है। पोलियो के खिलाफ किए गए टीकाकारण में भारत को सफलता प्राप्त हुई। लेकिन कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण इतना आसान नहीं होने वाला है। वैज्ञानिकों का कहना है कि पोलियो की दवाई देना आसान है। लेकिन कोरोना वैक्सीन देना इतना आसान नहीं ।

वैक्सीन को फाइनल अप्रूवल मिलने के बाद कौन-कौन सी चुनौतियों का करना पड़ेगा सामना

दुनिया की कई कंपनियों कोरोना की असरदार वैक्सीन को लेकर बड़े-बड़े दावे कर रही हैं। क्या है उन दावों का सच , वैक्सीन को फाइनल अक्टूबर मिलने के बाद सामने कौन सी चुनौतियां खड़ी होंगी ?

हर देश की जनता का एक ही सवाल है कब बनेगी कोरोना की वैक्सीन, कब जिंदगी फिर से पटरी पर वापस आएगी, कब लोग पहले की तरह बिना मास्क लगाए घूम सकेंगे। वैसे तो किसी भी वायरस की वैक्सीन बनाने में दशकों का समय लगता है पर कोरोना महामारी को व्यापक रूप में फैलते हुए देखकर वैज्ञानिक और कंपनियां सभी वैक्सीन बनाने की तैयारी में जुट गए।

खबरें आ रही है कि काफी जल्दी कोरोना की वैक्सीन लॉन्च कर दी जाएगी। वैज्ञानिक और कंपनियां वैक्सीन बनाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं, ताकि लोगों की जान बचा सके। वैक्सीन को लेकर हर तरफ से खुश खबर ही आ रही है किसी कंपनी का कहना कि हमारी वैक्सीन 70% तो किसी कंपनी का कहना है कि हमारी वैक्सीन 90% तक सही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री द्वारा यह बयान सामने आया है कि तीन-चार माह के अंदर भारत को भी वैक्सीन मिल जाएगी।

Oxford और Extrazenica की वैक्सीन को लेकर काफी अच्छे नतीजे सामने आए हैं। अच्छी बात यह है कि इस वैक्सीन की करोड़ों डोज भारत में तैयार भी हो रही हैं। Oxford और Extrazenica की वैक्सीन दूसरी कंपनियों की वैक्सीन के मुकाबले में ये सस्ती है और इन्हें स्टोर करने में आसानी भी होगी। ज्यादा आबादी वाले देश के लिए यह बेहतर विकल्प है।

भारत को बड़े पैमाने पर टीकाकरण करने का काफी अच्छा अनुभव है। पोलियो के खिलाफ किए गए टीकाकारण में भारत को सफलता प्राप्त हुई। लेकिन कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण इतना आसान नहीं होने वाला है। वैज्ञानिकों का कहना है कि पोलियो की दवाई देना आसान है। लेकिन कोरोना वैक्सीन देना इतना आसान नहीं ।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tanisha work as a content writer. Expertise in SEO [search engine optimization]. She is interested in learning new skills. I have a few month's experience yet learning at a fast pace! Reach me at tanisha@liveakhbar.in
DMCA.com Protection Status