Connect with us

Hi, what are you looking for?

Live Akhbar

देश

आज भारत बंद : परिवहन, बैंकिंग सेवाओं का प्रभावित होने संभव

India closed today
Loading...

India closed today

आज एक दिवसीय हड़ताल का आह्वान किया गया जिसमें विभिन्न केंद्रीय नीतियों के विरोध में दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के संयुक्त मंच सामिल है। ट्रेड यूनियनों को अनुमान है इस हड़ताल में करीब 25 करोड़ श्रमिक देशव्यापी हिस्सा लें सकते है | इस के दौरान, उत्तर प्रदेश सरकार ने जरूरी सेवाओं के रखरखाव अधिनियम को अधिक कर दिया, इसके अंतर्गत सभी तहर के विभागों और निगमों में हड़ताल पर रोक लगाी दिया गई है।

हड़ताल का कारण – नए खेत और श्रम कानूनों का विरोध और मजदूरों से जुड़े अन्य मुद्दों के साथ-साथ विभिन्न मांगों को उठाना |

बैंकिंग सेवाएं प्रभावित –

बैंकिंग सेवाओं के विभिन्न राज्यों में प्रभावित होने की संभावना है क्योंकि बैंक यूनियनों ने ट्रेड यूनियनों के साथ हाथ मिलाने के लिए एक दिन की हड़ताल का आह्वान किया है। आईडीबीआई और बैंक ऑफ महाराष्ट्र जैसे बैंकों ने विनियामक फाइलिंग में शेयर बाजार को बताया है कि हड़ताल कॉल के कारण उनके सामान्य संचालन प्रभावित हो सकते हैं।

परिवहन सेवाएं भी प्रभावित –

बहुत से राज्यों में, ऑटो और टैक्सी चालकों ने सड़कों को बंद रखने का निर्णय लिया है। रेलवे और रक्षा कर्मचारियों के संघों ने हड़ताली श्रमिकों के साथ देने के लिए गुरुवार को बड़ी लामबंदी (मोबिलाइजेशन) करने का फैसला किया है।

किस – किस नें भाग लिए हड़ताल में –


हड़ताल में भारतीय ट्रेड यूनियनों (CITU), ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (AITUC), इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (INTUC), हिंद मजदूर सभा (HMS), भारतीय ट्रेड यूनियनों (CITU), ऑल इंडिया यूनाइटेड ट्रेड यूनियन सेंटर (AIUTUC), ट्रेड यूनियन को-ऑर्डिनेशन सेंटर (TUCC) और सेल्फ-एंप्लॉयड वुमन एसोसिएशन (SEWA), ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (AICCTU), लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन (LPF) और यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस (UTUC) हिस्सा लिया |

साथ ही विभिन्न स्वतंत्र महासंघ और संघ भी संयुक्त मंच का हिस्सा हैं। किसान संगठनों का एकजुट मोर्चा AIKSCC ने भी इन हड़ताल में अपना समर्थन बढ़ाया और हड़ताली श्रमिकों के साथ एकजुट होकर ग्रामीण क्षेत्रों में अपने सदस्यों को जुटा रहा है।

बीएमएस नहीं ले रहा भाग –

भाजपा से जुड़े भारतीय मजदूर संघ (BMS) नें हड़ताल में भाग नहीं लेने का फैसला किया |

Sweety Jain
Written By

Sweety Jain has experience in content writing and Search engine optimization. Passionate about researching and learning new skills. Feel free to contact her at sweety@liveakhbar.in

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

देश

Loading... FARMER PROTEST Why are the farmers of Punjab and Haryana protesting? कृषि कानून के खिलाफ किसान आंदोलन का 19 दिन है आज। नए...