Connect with us

Hi, what are you looking for?

Gaming

35 साल के इतिहास में 20 से ज्यादा बार बदली टीम इंडिया की जर्सी देखते हैं 1985 से लेकर अब तक का सफर

INDIAN CRICKET TEAM JESEY
INDIAN CRICKET TEAM JESEY

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया अपने नए तेवर और नए अंदाज़ के साथ मैदान में उतरने वाली है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नई जर्सी में नजर आएगी विराट की विराट सेना। 27 नवंबर 2020 से टीम इंडिया तीन वनडे,तीन टी-20 और चार टेस्ट मैच खेलने वाली है। हाल ही में टीम इंडिया को नया किट स्पॉन्सर मिला है।टीम इंडिया का नया स्पॉन्सर अब से ऑनलाइन गेमिंग कंपनी MPL होगी अब से टीम इंडिया की नई जर्सी में।MPLका लोगो भी नजर आने वाला है।

TEAM INDIA JESERY CHANGED

कहते हैं इतिहास खुद को दोहराता है यहां ऐसा ही कुछ नजर आने वाला है आप लोगों को । टीम इंडिया की नई जर्सी नेवी ब्लू कलर की है और इस कलर की जर्सी टीम इंडिया 80 दशक में पहना करती थी।

जब क्रिकेट की शुरुआत हुई उस समय सभी टीम सफेद रंग की जर्सी में नजर आया करती थी।

मगर साल 1985 में ऑस्ट्रेलिया टीम ने सफेद जर्सी के चलन को बदला और पहली बार रंगीन जर्सी पहनकर मैदान में उतरी। ऑस्ट्रेलिया टीम पहली क्रिकेट टीम थी जिसने रंगीन जर्सी पहनी थी।लेकिन उस समय की जर्सी और आज की जर्सी में जमीन आसमान का फर्क है। वक्त के साथ जर्सी में काफी बदलाव किए गए।

टीम ऑस्ट्रेलिया के बाद धीरे-धीरे सभी टीमों की जर्सी रंगीन होने लगी थी। सन 1985 में पहली बार टीम इंडिया रंगीन जर्सी पहनकर मैदान में उतरी।उस समय जर्सी में ना तो देश का नाम हुआ करता था और ना ही खिलाड़ियों का।
1985 के बाद 1991 में टीम इंडिया की जर्सी में कुछ बदलाव किए गए। 91 से 92 के बीच टीम इंडिया की जर्सी में देश के नाम के साथ खिलाड़ियों का नाम भी शामिल कर दिया गया।

1992 वर्ल्ड कप ऐसा पहला वर्ल्ड कप हुआ जो कलरफुल ड्रेस में खेला गया। इस वर्ल्ड कप में लगभग सभी टीम रंगीन जर्सी ओं के साथ मैदान में उतरी। वर्ल्ड कप के दौरान भारतीय प्लेयर्स की जर्सी का कलर लाइट ब्लू से इंडिगो कर दिया गया। ड्रेस के आगे टीम का नाम और पीछे प्लेयर का नाम लिखा गया था।

सन 1994 में टीम इंडिया न्यूजीलैंड दौरे पर थी। उस दौरान टीम इंडिया पीले और नीले रंग की जर्सी में दिखाई दी।इसी साल श्रीलंका में खेली गई वर्ल्ड सीरीज में हल्के नीले रंग और पीले रंग की नई जर्सी में भी नजर आई टीम इंडिया।

अगर बात 1995 करें तो इस साल भी टीम इंडिया की जर्सी में बदलाव किया गया इस बार जर्सी का कलर नहीं बदला था इस बार जर्सी में भारतीय तिरंगे को शामिल कर लिया गया।

Advertisement. Scroll to continue reading.

1996 में फिर हुआ वर्ल्ड कप इस वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की जर्सी में बदलाव किए गए टीम की जर्सी का कलर इस बार आसमानी और पीले रंग के कॉन्बिनेशन में नजर आया. इस जर्सी में पीले रंग के कॉलर और सफेद रंग की लाइंस थे इसके अलावा ड्रेस में सतरंगी रंग के तीर जैसे लाइंस का यूज भी किया गया था।

90 के दशक में सन 1997 में श्रीलंका के दौरे पर पहली बार टीम इंडिया की जर्सी में गहरे रंगों की छाप नजर आई।

आगे बढ़ते हैं और अब चलते हैं सन 1998 की तरफ तो बता दें कि इस साल भी टीम की जर्सी में बदलाव किए गए 1998 की जर्सी में हल्के नीले रंग की टीशर्ट और डाक ब्लू कलर के लाईंस भी नजर आई। साथ ही टीशर्ट के दोनों बाहों पर तिरंगे की छाप भी शामिल की गई।

1999 के वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की जर्सी पर बीसीसीआई के लोगों का भी इस्तेमाल किया गया।
1999 के बाद शुरू हुआ 20 का दशक साल 2000 से भारतीय टीम की जर्सी में आसमानी रंग को आधिकारिक तौर पर चुना गया।
सन 2002 के चैंपियंस ट्रॉफी में पहली बार बिना किसी स्पॉन्सर लोगों की जर्सी पहनकर खेल में उतरी भारतीय टीम।

2003 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की जर्सी में काफी बदलाव किए गए थे 2003 की जर्सी काफी स्टाइलिश और अच्छी हो गई थी। तिरंगे के ब्रश पेंट ने मानो ड्रेस में जान ही डाल दी। बीच में लिखें इंडिया से जर्सी खास लग रही थी।

2004 में इस जर्सी पर स्पॉन्सर सहारा का नाम भी लिखा जाने लगा।


आगे बढ़ते हैं और चलते हैं साल 2007 में इस साल वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की जर्सी और भी ज्यादा स्टाइलिश बनाने की कोशिश की गई इस बार भारतीय तिरंगा बीच से हटकर थोड़ा ऊपर चला गया। इस ड्रेस में इंडिया को भी नए फोंट में लिखा गया।


साल 2009 में न्यूजीलैंड दौरे पर जाने से पहले टीम की जर्सी को बदला गया इसमें हल्के नीले रंग की जगह गहरे नीले रंग का इस्तेमाल किया गया।
साल 2011 में वर्ल्ड कप की जर्सी टीम इंडिया के लिए लकी साबित हुई इस जर्सी को पहनकर 28 साल बाद टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप जीता।इस जर्सी में इंडिया को ऑरेंज रंग से लिखा गया था।
2013 में टीम के स्पॉन्सर बदल कर NIKE गए और NIKE द्वारा बनाई गई टीम की नई जर्सी।

2014 वर्ल्ड कप से पहले टीम का स्पांसर स्टार इंडिया बन गया टीम की जर्सी पर उनका लोगो भी नजर आया।

Advertisement. Scroll to continue reading.

2015 के वर्ल्ड कप में फिर से जर्सी में बदलाव किए गए इस जर्सी पर तिरंगे का इस्तेमाल नहीं किया गया। ब्लू टीशर्ट पर टीम और स्पॉन्सर्स का नाम नजर आया। इस जर्सी की खास बात यह थी कि यह जर्सी रीसाइकिल्ड प्लास्टिक की बोतलों से बनाई गई थी।

साल 2017 में टीम के स्पॉन्सरश फिर बदले। इस बार टीम इंडिया को oppo जैसी बड़ी कंपनी के रूप में स्पॉन्सरशिप मिली।

साल 2019 के वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की नई जर्सी लांच की गई। टीम इंडिया मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ नीली जर्सी की जगह नारंगी जर्सी पहनकर मैदान में उतरे। और इस बार टीम इंडिया की जर्सी में oppo को हटाकर BYJU’S को जगह मिली।

साल 2020 में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नई जर्सी पहनकर मैदान में उतरेगी। 1992 के बाद 2020 में पहली बार इस जर्सी का प्रयोग किया जाएगा।

Tanisha Jain
Written By

Tanisha work as a content writer. Expertise in SEO [search engine optimization]. She is interested in learning new skills. I have a few month's experience yet learning at a fast pace! Reach me at tanisha@liveakhbar.in

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Gaming

ऑस्ट्रेलिया से खेले जा रहे हैं ODI सीरीज में भारत की पहले वनडे में हार हो चुकी है। तीन मैचों की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया...

Gaming

Commonwealth Games 2022 2022 में बर्मिंघम में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में पहली बार महिला क्रिकेट शामिल हुआ है। इससे पहले 1998 में क्वालालानपुर...

Gaming

क्वालीफायर 2 में सनराइजर्स हैदराबाद को करारी हार का सामना करना पड़ा। दिल्ली कैपिटल्स ने हैदराबाद को 7 विकेट से हराकर फाइनल के लिए...