January 22, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

head constable

हेड कॉन्स्टेबल सीमा ढाका बनी एएसआई, बचाया 76 गुमशुदा बच्चों कों

नई दिल्ली: कोरोना महामारी चलते पिछले ढाई महीने में गुमशुदा 76 बच्चों को ढूंढ़ने वाली सामयपुर बादली पुलिस स्टेशन में तैनात महिला हेड कॉन्स्टेबल सीमा ढाका को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन (ओटीपी) देकर असिस्टेंट सब इन्स्पेक्टर (एएसआई) बना दिया गया है | सीमा ढाका पहली पुलिसकर्मी बनी जन्होंने यह प्रमोशन पाया है | उन्हें यह प्रमोशन दिल्ली के पुलिस कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव ने बुधवार को दिया |

दिल्ली पुलिस का बयान –


सीमा ढाका ने 76 गुमशुदा बच्चों को ढूंढा | उन 76 गुमशुदा बच्चों में 56 ऐसे बच्चे है जो 14 साल से कम उम्र के है | उन्होंने बताया कि यह बच्चे केवल दिल्ली के ही नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, बिहार, हरियाणा और पंजाब राज्यों के भी हैं |

नई इंसेंटिव स्कीम –


5 अगस्त से यह नई इंसेंटिव स्कीम लागू हो गई थी | इस स्कीम के अंतर्गत अगर कोई कॉन्स्टेबल या हेड कॉन्स्टेबल 50 या इससे ज्याद 14 वर्ष के कम गुमशुदा बच्चों को एक साल के भीतर बचाने पर उस पुलिसकर्मिय को प्रोत्साहित करने के लिए यह स्कीम बनाई गई है | प्रोत्साहित के रूप नें उन्हें आउट ऑफ टर्न (ओटीआई) प्रमोशन दिया जाएगा |

पुलिस ने कहा कि इस के स्कीम बाद गुमशुदा बच्चों की खोज और मिलने की प्रक्रिया में बड़ा बदलाव देखने मिला | इस साल अगस्त महीने से बहुत से बच्चों को ढूंढ निकाला गया | इससे उन दुखी परिवारों की भी खुशी वापल लौटी और बच्चों को भी शोषण और उनके गलत इस्तमाल से भी बचाया |

सीमा ढाका को दी बधाई –


एसएन श्रीवास्तव दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन ने ट्विटर पर ट्वीट कर दी बधाई और कहा कि ‘सीमा ढाका महिला हेड कॉन्स्टेबल को नई इंसेंटिव स्कीम के अंतर्गत तीन महीनों के अंदर 56 गुमशुदा बच्चों को ढूंढ पर आउट-ऑफ टर्न प्रमोशन पाने वाली पहली पुलिसकर्मी बनने पर वह निश्चित रूप से बधाई की पात्र हैं | उनके इस जुनून और इन परिवारों की खुशी लौटाने के लिए उन्हें सलाम | सीनियर अफसरों ने भी उनकी तारीफ की |

सीनियर अफसरों और टीम के सदस्यों के सहयोग से मिला प्रमोशन –


सीमा ढाका ने अपनेे प्रमोशन का श्रेय सीनियर्स और टीम के सदस्यों को दिया | उन्होंने बोला कि वह भी एक मां है और वह कभी नहीं चाहेंगी कि किसी का भी बच्चा उससे दूर हो जाए | उन्होंने बच्चों को बचाने के चौबीस घंटे काम किया था |