दिवाली की बिक्री 72,000 करोड़ रुपये के पार, चीन को भारी नुकसान

diwali market 2020

देश के प्रमुख बाजारों में कारोबारियों ने इस दिवाली लगभग 72,000 करोड़ रुपये की बिक्री दर्ज की। व्यापारियों ने बताया कि, इस साल की दिवाली के दौरान चीनी सामानों के बहिष्कार के लिए सीएआईटी के आह्वान पर कोई चीनी सामान नहीं बेचा गया, जिससे चीन को 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है |

रिपोर्ट –

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि 20 अलग-अलग शहरों से इकट्ठा की गई रिपोर्टों के अनुसार, इस दिवाली त्योहारी बिक्री ने लगभग 72,000 करोड़ रुपये का कारोबार किया और चीन को 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान चीन को हुआ है |

20 शहर –

दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोलकाता, नागपुर, रायपुर, भुवनेश्वर, रांची, भोपाल, लखनऊ, कानपुर, नोएडा, जम्मू, अहमदाबाद, सूरत, कोचीन, जयपुर, चंडीगढ़ सहित बीस शहरों को “वितरण शहर” माना जाता है |

आत्मनिर्भर भारत की शुरुवात –


इस दिवाली कोरोना महामारी के बीच देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से ‘वोकल फॉर लोकल’ की अपील की | प्रधानमंत्री ने दिवाली से ठीक पहले देश के लोगों से अपील की, कि वे इस वर्ष दिवाली में स्थानीय वस्तुएं ही खरीदे | प्रधानमंत्री की इस अपील पर देश के लोगों ने विदेशी सामानों का जामकर बहिष्कार किया, जिससे खासतौर पर चीन का, इससे चीन कारोबार को बड़ा झटका भी लगा |

सीएआईटी का कहना –


सीएआईटी ने कहा कि दिवाली के त्योहारी सीजन के दौरान वाणिज्यिक बाजारों में जो मजबूत बिक्री हुई, वह भविष्य में व्यापार की अच्छी संभावनाओं को इंगित करती है और व्यापारियों के चेहरे पर कुछ मुस्कान वापस लाती है।

दिवाली पर इन सामानों की हुई बिक्री –


इस दिवाली एफएमसीजी सामान, उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं, खिलौने, बिजली के उपकरण और सामान, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, रसोई के सामान, उपहार की वस्तुएं, मिठाइयाँ, घरेलू सामान, टेपेस्ट्री, बर्तन, सोना और आभूषण, जूते, घड़ियाँ, फर्नीचर, और सबसे ज्यादा खरीदे जाने वाले सामानों में कपड़ा, होम डेकोरेशन का सामान शामिल था।

बिक्री का आंकड़ा –


चौथी बार कनॉट प्लेस स्थित खादी इंडिया के प्रमुख आउटलेट पर खादी की एक-दिन की बिक्री का आंकड़ा एक करोड़ रुपये से ज्यादा का रहा | 13 नवंबर को हुई आउटलेट की कुल बिक्री 1.11 करोड़ रुपये, जो इस वर्ष की एक दिन की सर्वाधिक बिक्री का आंकड़ा है | इससे पहले दो अक्टूबर (गांधी जयंती)को 1.02 करोड़ रुपये, 24 अक्टूबर को 1.05 करोड़ रुपये और 7 नवंबर को 1.06 करोड़ रुपये की बिक्री हुई थी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status