वित्त मंत्री के बड़े फैसले, 90 करोड़ दिए वैक्सीन के शोध और विकास।

12 नवंबर, गुरूवार को हुई एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जैव प्रौद्योगिकी (बायोटेक) विभाग को कोरोना वैक्‍सीन पर शोध करने के लिए 900 करोड़ रुपये का अनुदान प्रदान करने की घोषणा की है | उन्होंने बोला कि “यह पैसा हम कोरोना वैक्‍सीन पर शोध और विकास के लिए दे रही, न की कोरोना टीके को बनाने और उसे वितरण के लिए |” 900 करोड़ रुपये, कोविड सुरक्षा मिशन के अंतर्गत भारतीय कोविड वैक्‍सीन के विकास के लिए जैव प्रौद्योगिकी विभाग को दिए जा रहे हैं।

वैक्‍सीन उपलब्ध होने पर –

वैक्‍सीन की उपलब्धता होने पर उसके लिए अलग से प्रावधान किया जाएगा | वित्त मंत्री ने कहा कि वैक्‍सीन की लागत, वितरण, रखरखाव और जगह-जगह भेजने के लिये अहम ‘लॉजिस्टिक’ का खर्च पूर्णता रूप से अलग होगा। जरूरत होगी पर इस उपलब्ध कराया जाएगा। 900 करोड़ का अनुदान पूर्णता रूप से वैक्‍सीन के विकास और शोध के लेकर है।

सीतारमण ने और भी अन्य बड़े फैसलों के बारे में बताया –

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की घोषणा


वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह घोषणा रोचगार के अवसर बढ़ान के लिए की है | कोरोना संकट के कारण अर्थव्यवस्था में गिराबट आ गई, उसे वापस पटरी पर लाने के लिए वित्त मंत्री ने राहत पैकेज देने का ऐलान किया | आत्मनिर्भर भारत 3.0 का ऐलान सरकार ने की | 12 घोषणाएं इस के तहत की गई है |

इनकम टैक्स रिलीप

अब डेवलपर्स और घर खरीदारों को मिलेगी इनकम टैक्स पर राहत | इस के तहत सर्कल रेट और एग्रीमेंट वैल्य के अंतर को 10 प्रतिशत से बढ़कर 20 प्रतिशत करने का फैसला लिए गए | मतलब प्रॉपर्टी की वैल्यू में गिरने आने के बाद भी अगर कोई घर सर्कल रेट के कारण नहीं बिका, तो अब वहां इनकम टैक्स में 20 प्रतिशत की छूट मिल जाएगी | छूट 2 करोड़ रुपए तक के घर खरीदी पर मिलेगी जिससे बिल्डर्स को घर बेचने और लोगों को घर की रजिस्ट्री कराने में सुविधा होगी | यह स्कीम 30 जून 2021 तक लागू की जाएंगी |

निर्मला सीतारमण ने और भी कोई योजनाएं और स्कीम बताई जैसे – पीएम शहरी आवास, घरेलू उत्पादन बढ़ाने पीएलआई स्कीम, इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम |

Leave a Comment

Enable Notifications    OK No thanks