in

पीएम नरेन्द्र मोदी करेंगे स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का अनावरण

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बृहस्पतिवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में स्वामी विवेकानंद जी की आदमकद प्रतिमा का अनावरण करेंगे। ये कार्यक्रम वीडियो कान्फ्रेंसिंग के ज़रिए आयोजित किया जायेगा।

अपने एक आधिकारिक बयान में जेएनयू के वाइस चांसलर एम. जगदेश कुमार का कहना है कि ” प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्वविद्यालय में स्थापित होने वाली स्वामी विवेकानंद जी को आदमकद प्रतिमा का 12 नवंबर की शाम 6.30 बजे अनावरण करेंगे। मूर्ति का अनावरण, स्वामी विवेकानंद जी पर आयोजित किए गए कार्यक्रम से पहले होगा।”

एम. जगादेश कुमार में आगे कहा कि ” स्वामी विवेकानंद सबसे ज़्यादा प्रिय बुद्धिजीवियों और धार्मिक नेताओं में से एक थे जिनके उत्पादन से भारत भाग्यशाली हो गया। इन्होंने यूथ को अपने भारत में शान्ति और आज़ादी के संदेश के साथ प्रेरित किया। स्वामी विवेकानंद जी की प्रतिमा को जेएनयू के पूर्व छात्र के सहयोग से विश्वविद्यालय कैंपस में स्थापित किया जा रहा है।”

इस कार्यक्रम में “यूनियन मिनिस्टर ऑफ़ एजुकेशन” भी शामिल होंगे।

स्वामी विवेकानंद मूर्ति पर क्या था विवाद।

स्वामी विवेकानन्द जी की इस प्रतिमा का निर्माण नवंबर 2018 में शुरू हुआ था। और पिछले साल इस प्रतिमा से बर्बरता की गई थी और इसकी पीठ पर कुछ आपत्तिजनक सन्देश लिखे गए थे।

अभी ये प्रतिमा भगवा रंग में लिपटी हुई वार्सिटी के प्रशासनिक ब्लॉक में स्थित है। वार्सिटी के कार्यकारी परिषद ने 2017 में इस प्रतिमा की स्थापना की अनुमति दी थी।

जेएनयू के छात्रों ने प्रतिमा को ले कर बार बार प्रशासन पर हमला किया था और इसको बनाने में इस्तेमाल किए गए धन पर सवाल उठाए हैं। हालांकि, प्रशासन ने इस बात को स्पष्ट किया है कि प्रतिमा के लिए धन जेएनयू के पूर्व छात्रों द्वारा दिया गया है।

छात्रों ने पिछले साल ये भी सवाल उठाया था के मूर्ति के लिए धनराशि, जो पुस्तकालय के लिए उपयोग की जानी थी उसका उपयोग किया गया है?

जेएनयू के प्रोफेसर ने भी इस बात को स्पष्ट किया है कि विश्वविद्यालय ने उनकी ओर से कुछ भी खर्च नहीं किया है, प्रतिमा के लिए धन पूर्व छात्रों द्वारा ही प्रदान किया गया है।

Avatar

Written by Jaysi Upmanyu

Jaysi works as a co-author and content writer. Expertise in search engine optimization. Passionate about content writing and voice over. Feel free to contact her at jaysi@liveakhbar.in

Leave a Reply

Avatar

Your email address will not be published. Required fields are marked *

himanshu nagpal

IAS Success Story: पिता और भाई को खोने के बावजूद भी 22 साल की उम्र में आईएएस ऑफिसर बने हिमांशु

Dhanteras 2020

धनतेरस 2020: जानें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि; क्या है सोना खरीदने का मंगल समय?