Connect with us

Hi, what are you looking for?

Web Shows

खुशखबरी: जून 2021 से पहले भारत बायोटेक लाएगा पहली स्वदेशी वैक्सीन

bharat biotech vaccine lauch next year

कोरोना ने लगातार अपने कहर से भारत को काफी नुकसान पहुंचाया है। शिक्षा और अर्थव्यवस्था जैसे क्षेत्र को भी क्षतिग्रस्त किया है। भारत की जनता बेसब्री से कोरोना के वैक्सीन का इंतजार कर रही है। ऐसे में उनके लिए एक खुशखबरी है।भारत की कंपनी ‘भारत बायोटेक’ ने कोरोना वैक्सीन को लॉन्च करने के लिए योजना बना रही है। 

दूसरी तिमाही में लाने की योजना

भारत बायोटेक अगले साल की दूसरी तिमाही में कोविड-19 के वैक्सीन को लॉन्च करने की योजना बना रहा है। ऐसा तभी हो पाएगा जब इसे भारतीय नियामक प्राधिकरणों से मंजूरी मिल जाती है। ऐसा कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी द्वारा कहा गया है। कुछ अब तो पहले ही से तीसरे चरण की मंजूरी मिल गई थी। वर्तमान में उसका ध्यान सफलतापूर्वक तीसरे चरण के परीक्षण का संचालन करना है। 


साई प्रसाद का कहना

भारत बायोटेक के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी निदेशक साई प्रसाद ने कहा कि हम तभी स्वीकृतियां प्राप्त करते हैं जब हम अपने अंतिम चरण के परीक्षणों में मजबूत प्रायोगिक साक्ष्य और डेटा और प्रभावकारिता और सुरक्षा डेटा स्थापित कर लेते हैं।साथ ही उन्होंने कहा कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से उन्हें तीसरे चरण के ट्रायल के लिए मंजूरी मिल गई है। मंजूरी मिलने के बाद ही इस चरण के लिए साइट की तैयारियां भी शुरू कर दी है। नवंबर में भर्ती और खुराक शुरू होगी। 


कितना है निवेश

कोविड 19 के वैक्सीन पर किए गए निवेश पर साई प्रसाद ने जवाब दिया। वैक्सीन के विकास में लगभग 350 से 400 करोड़ रुपए लगे हैं। नई विनिर्माण सुविधाओं और विकास हेतु फिलहाल इसमें इतने रुपयों का निवेश है। इसमें अगले 3 महीनों में तीसरे चरण संचालन के लिए भी निवेश शामिल है।साथ ही उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी दोनों ही बाजारों के लिए वैक्सीन की आपूर्ति करना चाहते हैं। फिलहाल इसकी कीमत अभी निर्धारित नहीं की गई है। इसका कारण यह है कि कंपनी अभी उत्पादन के विकास की लागत को देख रही है।

आईसीएमआर है सहयोगी

icmr

भारत की कंपनी क्या वैक्सीन उम्मीदवार ‘कोवैक्सीन’ इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) ने साथ मिलकर Sars-CoV-2 को निष्क्रिय करने वाले प्रयोग से विकसित किया गया है। आईसीएमआर के लैब में वायरस को अब अलग कर दिया गया है।

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Recommendations

अमेरिका में फाइजर के COVID-19 Vaccine को मंजूरी देने के लिए पहले से ही दबाव था। इसे मंजूरी देने के लिए अमेरिका की फूड...

Anime

Which challenges will be faced after getting the finals to the vaccine वैक्सीन को फाइनल अप्रूवल मिलने के बाद कौन-कौन सी चुनौतियों का करना...

Recommendations

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। वहीं अमेरिका में इस महामारी का प्रभाव सबसे ज्यादा है। ऐसे में...

Pop Buzz

चीन से शुरू हुआ था कोविड-19 सिर्फ वही थमा अंतरराष्ट्रीय स्तर की तमाम कोशिशों के बाद भी कोरोनावायरस लगातार फैल रहा है इस महामारी...

Anime

दुनिया भर में कोरोना के मामले निरंतर बढ़ते जा रहे हैं बताया जा रहा है कि कुल मामले पांच करोड़ सात लाख से भी...

Anime

अमेरिकी कंपनी फाइजर (pfizer) ने कोविड-19 वैक्सीन बनाया है। कंपनी ने यह दावा किया है कि वैक्सीन तीसरे चरण में 90% तक सफल है।...

DMCA.com Protection Status