देश के नाम पीएम का संबोधन, जानें जरूरी बातें

PM modi speech yesterday

Garima- Liveakhbar Desk

भारत की जनता को मंगलवार शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया जहां उन्होंने कोरोना वायरस, देश में लगा लॉकडाउन, कोरोना की वैक्सीन और त्योहारों पर भी चर्चा की। इस संबोधन की जानकारी उन्होंने ट्वीट कर दी थी। नरेंद्र मोदी ने कहा कि भले ही लॉकडाउन खत्म हो गया हो लेकिन हमें सावधानियां अभी भी बरतने की जरूरत है और साथ ही साथ उन्होंने पूरे देशवासियों को सभी त्योहारों की शुभकामनाएं व बधाई दी।

कुछ अहम बातें

• कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं। मास्क लगाना व सोशल डिस्टेंसिंग अब भी बहुत आवश्यक है। लॉकडाउन चला गया लेकिन वायरस अभी नहीं गया है। हमारे देश में अभी भी कोरोना की वैक्सीन पर काम चल रहा है और इनमें से कई एडवांस्ड स्टेज पर पहुंच चुके हैं।

• जनता को उन्होंने यह भी बताया कि भारत की रिकवरी रेट काफी बेहतर है और कई लोगों ने कोरोना जैसी बीमारी को मात देकर घर वापस पहुंचे हैं। कई संपन्न देशों की तुलना में हम जान बचाने में सफल रहे हैं। सब से आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि लापरवाही कि अभी कहीं जगह नहीं है और अगर हम सावधानियों को नजरअंदाज करेंगे तो स्थिति चिंताजनक हो जाएगी।

• उन्होंने यह भी कहा कि भारत ने कोरोना से लड़ने के लिए एक लंबा सफर तय किया है और इस महामारी के दौरान आर्थिक गतिविधियां भी तेजी से बढ़ रही हैं। लोग अपनी जिम्मेदारियां पूरी कर रहे हैं और धीरे-धीरे इस त्योहारों वाले मौसम में चमक और रोशनी लौटती दिखाई दे रही है।

• चेतावनी देते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगर आप लापरवाह हैं तो अपने घर को बिना मास्क के छोड़कर,आप खुद को, अपने परिवार को, अपने बच्चों और बुजुर्गों को खतरे में डाल रहे हैं।

• सब को आश्वस्त करते वक्त पीएम मोदी ने कहा कि कोविड-19 का टीका जब भी आएगा तो उसे भारतीयों तक जल्द से जल्द पहुंचाया जाएगा।

• इन सभी बातों को करने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि हम एक मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं और साथ ही प्रगति के पथ पर भी अग्रसर है। थोड़ी सी भी लापरवाही इससे बुरे तरीके से प्रभावित कर सकती है।

कोरोना मामलों में कमी

भारत में इस वक्त कोरोना से बंद इस मामले कम हुए हैं और इसी वक्त प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन भी हुआ। रिकवरी रेट 88% तक पहुंच गई है और उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए संभव हो सका है क्योंकि लोग तो लगाने वाले देशों में भारत सबसे पहले था। मंगलवार को 50,000 से भी कम नए मामले सामने आए थे और इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामले 75,97,063 हो चुके हैं।

24 मार्च को लॉकडाउन का ऐलान

मार्च महीने के 24 तारीख को प्रधानमंत्री मोदी ने देश भर में लॉकडाउन करने का ऐलान किया था। इसी संबोधन में उन्होंने ‘जान है तो जहान है’ का नारा दिया था। इस लॉकडाउन को बढ़ाने का भी निर्णय लिया गया था। मंगलवार से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने देश को कई बार संबोधित किया जिसमें उन्होंने कई ऐसे पहलुओं पर चर्चा की जिसकी देश को जरूरत थी। 5 अप्रैल को रात 9:00 बजे 9 मिनट घर की सभी लाइटें बंद करके 9 मिनट के लिए मोमबत्ती दिया टॉर्च से मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने के लिए लोगों से अनुरोध किया था।

अब यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम देश में कोरोना संक्रमण के मामले को बढ़ने ना दें और साथ ही मास्क पहने व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *