ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन का ट्रायल करते समय हुई एक वॉलंटियर की मौत

oxford vaccine volunteer dead

Jaysi Upamanyu- Liveakhbar Desk

आज दुनिया में फैली कोरोना नाम की भयावह महामारी से निजात पाने के लिए सारे देश प्रयास कर रहे हैं। वही ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन पर सबकी आशाएं हैं। लेकिन आज ऑक्सफर्ड की वैक्सीन एस्ट्राजेनेका को लेकर एक बड़ी खबर सामने आईं है। बता दे की ब्राजील में एस्ट्राजेनेका का तीसरे फेज का ट्रायल चल रहा है। ऐसे में खबर है कि एस्ट्राजेनेका कोविड वैक्सीन टेस्ट के एक वॉलंटियर की मौत हो गई है।

इसकी जानकारी ब्राजील के हैल्थ डिपार्टमेंट अथॉरिटी अनवीसा ने बुधवार को दी। अथॉरिटी से मिली हुई जानकारी के मुताबिक वॉलंटियर की मौत वैक्सीन से नहीं हुई, बल्कि मरने वाले वॉलंटियर को तो वैक्सीन दी भी नहीं गई थी।वैज्ञानिकों की तरफ से यह साफ किया गया है कि 28 वर्षीय वॉलंटियर की मौत वैक्सीन के ट्रायल से नहीं हुई है। यह वॉलंटियर ब्राजील का ही रहने वाला था। और तो और उन्होंने ये भी साफ किया कि वैक्सीन को ले कर चिंता की कोई बात नहीं है। वैक्सीन एक दम सुरक्षित है और इसलिए वैक्सीन के ट्रायल पर भी रोक नहीं लगाई जायेगी। अभी इस मामले में ज़्यादा जानकारी नहीं दी गई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया में करीब 12 देशों में कोरोना की वैक्सीन के ट्रायल चल रहे हैं जिसमे सबसे तेज़ ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन के रिजल्ट सामने आए हैं। और पूरी दुनिया को इस वैक्सीन का इंतजार है। जानकारी के लिए बता दे कि ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के करीब 30 हजार वॉलंटियर शामिल हैं।

ब्राजील से पहले ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैक्सीन के ट्रायल को रोकना पड़ा था। क्योंकि ट्रायल के दौरान एक शोधकर्ता वॉलंटियर बीमार हो गया था। वैज्ञानिकों का कहना है कि जब भी किसी बड़े पैमाने पर परीक्षण किया जा रहा हो तो साइड इफेक्ट्स होना आम बात है।

उम्मीद करते हैं के जल्द ही पूरी दुनिया इस कोरोना नाम की महामारी से निजात पाए और हम पहले की तरह सामान्य जिंदगी जी सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *