रेलवे हटाएगी स्लीपर और जनरल बोगी, एसी में होगा सफर। जानें पूरी बात

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

– Garima

रेलवे मंत्रालय का बड़ा प्लान: रेल मंत्रालय ने रेल यात्रियों का सफर जल्द से जल्द हो इसलिए एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। यात्री अपने गंतव्य तक तेजी से पहुंच जाए इसके लिए भारतीय रेल ने यह अहम प्लान बनाया है। इस फैसले के मुताबिक 130 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलने वाली ट्रेनों की गति 160 किलोमीटर प्रति घंटा करने की तैयारी है। साथ ही स्लीपर और जनरल कोच यानी नॉन एसी डब्बों को तेज रफ्तार ट्रेनों से हटा दिए जाएंगे। इसके पीछे का कारण यह है कि जब भी माल गाड़ियां या पैसेंजर ट्रेन की गति ज्यादा होती है तब यह जनरल और स्लीपर बोगियों से तकनीकी समस्याएं होने की आशंका रहती है। इसे ध्यान में रखकर रेल मंत्रालय ने इसे खत्म करने का फैसला लिया है।
फिलहाल एक्सप्रेस ट्रेनों और लंबी दूरी वाली मेल ट्रेनों में 83 एसी कोच लगाने का प्रस्ताव है।
इन सब बातों का यह मतलब बिल्कुल ही नहीं है कि नॉन एसी कोच होंगे ही नहीं लेकिन पहले के मुकाबले इनकी संख्या कम हो जाएगी। यह कार्य चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा और आगे की योजना अनुभवों से सबक लेते हुए बनाई जाएंगी।

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता का कहना: रेल मंत्रालय के प्रवक्ता डी जे नारायण ने कहा कि वर्तमान समय में अधिकतर मार्गों पर एक्सप्रेस रेल गाड़ियों की रफ्तार 110 किलोमीटर प्रति घंटा या इससे कम है। इन बातों के साथ-साथ उन्होंने कहा कि इस तरह की ट्रेनों में टिकट की कीमत पहले के मुकाबले सस्ती होगी। अपने तरफ से दिए गए फैसले को स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि इसे गलत तरीके से नहीं समझा जाना चाहिए। उनका कहने का मतलब था कि जनता यह ना सोचे कि हर वातानुकूलित डब्बों को एसी कोच में तब्दील कर दिया जाएगा। उनका कहना है कि स्वर्णिम चतुर्भुज और डायगोनल की पटरियाँ इस प्लान के लिए तैयार की जा रही है। फिलहाल शताब्दी, राजधानी और दुरंतो एक्सप्रेस जैसी प्रीमियम ट्रेन 120 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से चलती है। 110 किलोमीटर प्रति घंटा से चलने वाली रेलगाड़ियों मैं गैर वातानुकूलित कोच लगे रहेंगे।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *