दुर्गा अष्टमी का महापर्व आज ,जानिए पूजन विधि मंत्रो के साथ

Live Akhbar Desk-Asmita Dalke


शारदीय नवरात्रि का आज आठवा दिवस है जिसे अश्टमी भी कहते है  ,आज के दिन महागौरी का पूजन किया जाता है।महागौरी माँ दुर्गा का ही आठवा स्वरूप है ।हिन्दू धर्म के अनुसार यह दिन शक्ति पूजा का बहुत ही विशेष दिन होता है।इस दिन विधि विधान से पूजन शक्ति पूजन करने से माँ की कृपा हमपर बरसती है और घर से सुख शांति व समृद्धि होती है ।


जानिए आज की पूजन विधि व मंत्र


महागौरी स्वयं ज्योति स्वरूप ही है ,इसिलए पूजा की शरुआत माँ के सामने ज्योत जलाकर सच्चे मन से ध्यान लगाकर बैठे ।कहा ज्यादा है पीला रंग संमृद्धि व पुष्टि का का प्रतीक होता है अतः माँ का पूजन पीला व सफेद पुष्प ,सुगंधित इत्र व सिद्ध मंत्रो से करे।


आज का पूजन मुहूर्त:


विजय मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 57 मिनट से दोपहर 02 बजकर 42 मिनट तक।  जो लोग 9 दिन का व्रत नहीं रख पाते हैं, वे पहले और महा अष्टमी का व्रत रखते हैं।

आज के दिन गाए जाने वाले मंत्र


महागौरी मंत्र:
माहेश्वरी वृष आरूढ़ कौमारी शिखिवाहना।
श्वेत रूप धरा देवी ईश्वरी वृष वाहना।।
ओम देवी महागौर्यै नमः।
महागौरी माता की आरती:
जय महागौरी जगत की माया।
जया उमा भवानी जय महामाया।।
हरिद्वार कनखल के पासा।
महागौरी तेरा वहां निवासा।।
चंद्रकली और ममता अंबे।
जय शक्ति जय जय मां जगदंबे।।
भीमा देवी विमला माता।
कौशिकी देवी जग विख्याता।।
हिमाचल के घर गौरी रूप तेरा।
महाकाली दुर्गा है स्वरूप तेरा।।
सती ‘सत’ हवन कुंड में था जलाया।
उसी धुएं ने रूप काली बनाया।।
बना धर्म सिंह जो सवारी में आया।
तो शंकर ने त्रिशूल अपना दिखाया।।
तभी मां ने महागौरी नाम पाया।
शरण आनेवाले का संकट मिटाया।
शनिवार को तेरी पूजा जो करता।
मां बिगड़ा हुआ काम उसका सुधरता।।
भक्त बोलो तो सोच तुम क्या रहे हो।
महागौरी मां तेरी हरदम ही जय हो।।


इन बातों का रखिये विशेष ध्यान:

पूजन करते समय यदि आपने पीले रंग के वस्त्र धारण करेगे तो आपका चित्त ज्यादा शांत रहेगा ।
अष्टमि के दिन माँ को सोलह श्रृंगार जरूर अर्पण करें ।
पूजन के बाद 11 वर्ष से कम आयु की कन्याओ को भोजन जरूर कराए,और अपनी इच्छा अनुसार दान दक्षिणा देवे।
सच्चे दिल से माँ का स्मरण करे और विश्व शांति की प्राथर्ना करे। और अंत मे माँ से जाने अनजाने में हो जाने वाली गलतियों के लिए माफी मांगे ।


महागौरी बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है ,वह स्वयं शक्ति है ,और आज के इस महापर्व पर माँ से देश मे चल रही  कोरोना बीमारी को नष्ट करने व पूरे विश्व मे सुख समृद्धि की प्रार्थना करेगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *