Bihar Elections 2020: पहले चरण की वोटिंग हुई समाप्त, इतने प्रतिशत हुआ मतदान

bihar elections 2020

Garima- liveakhbar Desk

पिछले कई दिनों से चल रहे चुनावी घमासान में कल पहले चरण की वोटिंग खत्म हुई। कोरोना के कहर के बीच बिहार में मतदान का पहला चरण सफल रहा। जीतन राम मांझी और बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा समेत आठ मंत्रियों की किस्मत ईवीएम में बुधवार को कैद हो चुकी है। इसके साथ ही कुल 1066 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला कल तय हो चुका है। 28 अक्टूबर को 16 जिलों के 71 विधानसभा सीटों पर 53.58% मतदान हुआ। यह जानकारी मुख्य निर्वाचन अधिकारी एच आर श्रीनिवासन ने दी है। शाम 5:00 बजे तक यह आंकड़ा 51.91% था।

बांका जिले में सबसे अधिक 59% मतदान दर्ज किया गया वहीं मुंगेर जिला 47.36% के साथ सबसे कम फीसदी वाला जिला बना। बिहार में पहले चरण के चुनाव में निर्वाचक ओं की कुल संख्या 2 करोड़ 14 लाख 6096 थी। सभी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक कर सकते थे। कोविड-19 के कारण जो लोग कारण क्वारंटिन हैं उन लोगों के लिए अंतिम घंटे अलग रखे गए थे।

नक्सली क्षेत्रों में वोटरों का उत्साह

बिहार राज्य में कई जगह नक्सली सक्रिय हैं। ऐसे प्रखंडों में मतदाताओं का उत्साह कम नहीं दिखा। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में वोटरों ने मतदान में हिस्सा लिया और यह शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। धरहरा प्रखंड, जो मुजमालपुर विधानसभा के अंतर्गत है, में कुल 89,752 मतदाताओं में से 44,162 वोटरों ने अपने वोट का प्रयोग किया है। इस प्रखंड में कुल 49.21% मतदान हुआ। यहां के मतदान केंद्रों में सुरक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए थे। 31,371 मतदान केंद्र के लिए 16,730 भवनों में व्यवस्था की गई थी जिसमें कुल 2856 भवन नक्सली क्षेत्र में आते थे

शांतिपूर्ण रहा मतदान

एडीजी जितेंद्र कुमार ने कहा कि मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ। पहले चरण के चुनाव के सुबह कुछ केंद्र पर ईवीएम मशीन में खराबी को लेकर शिकायतें आई थी लेकिन चुनाव आयोग के कर्मियों ने जल्द से जल्द इसे ठीक कर दिया। जमुई में हुई मशीनों में खराबी के कारण वह मतदान की समय सीमा बढ़ाकर 7:00 बजे शाम तक कर दी गई थी। लोगों में नेताओं के द्वारा किए गए वादों को ना निभाने का आक्रोश था, इसी कारण कई जगह पर नेताओं पर आरोप लगाया गया और मतदान का भी विरोध हुआ था। टाउन के भाजपा प्रत्याशी प्रेम कुमार के अपनी पार्टी के निशान की तस्वीर लगी मास्क पहनकर एक मतदान केंद्र जाने पर गया जिले के कोतवाली थाने में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। सूचना के अनुसार 159 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इन सबके अलावा कोरोनावायरस को सभी लोगों द्वारा पालन किया जा रहा था।

ECI का कहना

चुनाव आयोग के अनुसार इस बार ईवीएम मशीन की खराबी को लेकर कम मामले सामने आए और इसी के साथ चुनाव संतोषजनक रूप से आयोजित किया गया था इसी ने कहा कि कुल बैलेट इकाइयों में से केवल 0.22% ने गड़बड़ की, 0.25% नियंत्रण यंत्रों में खराबी पाई गई और 1.25% वीवीपीएटीएस को बदला गया।

महागठबंधन का दावा

पहले फेज की वोटिंग के बाद महागठबंधन ने एक बड़ा दावा भी किया है। पहले चरण के मध्य चुनाव के बाद 55 सीटों से अधिक सीट पर जीत हासिल करने का दावा महागठबंधन द्वारा किया गया है। सभी दल, जो महागठबंधन से जुड़े हैं, के कार्यकर्ताओं को सचेत किया गया है और कहा है कि सरकार की विदाई तक जोश में कमी ना आने दें। इधर बिहार के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने पहले चरण की वोटिंग पूर्ण होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सभी को संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *