उठे सवाल : किसने बनाया आरोग्य सेतु एप ? , क्या सरकार जानती ?

Live Akhbar desk- Sweety Jain


कोरोना महामारी के इस दौर में लगभग प्रत्येक व्यक्ति के स्मार्ट फोन में आरोग्य सेतु मिल जएगा |आरोग्य सेतु एप जो कोरोना वायसर संक्रमण के खतरे और आस-पास कोरोना पॉजिटिव लोगों के बारे में पता लगाने में मदद करता है | भारत सरकार लोगों से बार-बार इस एप को अपने मोबाइल में डाउनलोड करने के आग्रह भी करती रही है | लेकिन आपको जनाकार आश्चर्य होगा कि सरकार को यह पता ही नहीं कि आरोग्य सेतु एप किसने बनाया है |

सूचना अधिकारी ( आरटीआई ) के द्वारा मांगी गई जानकारी में यह बात सामने आई , जिसके बाद केंद्रीय सूचना आयोग ( सीआईसी ) ने केंद्र सार्वजनिक सूचना अधिकारियों ( सीपीईओ ), इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआरसी) और नेशनल ई गवर्नेंस डिविजन ( एनईजीडी ) को वजह बताते हुए नोटिस भेजा है |

  • सरकारी विभाग पर आरोग्य सेतु एप को लेकर सूचना छापने और गड़बड़ जानकारी देने का आरोप |
    आरोग्य सेतु एप की वेबसाइट पर खबर दी गई है की उसे ने इसे डिजाइन और विकसित किया है और होस्ट भी किया है , तब उसे ऐप बनाने वाले के बारे में जानकारी कैसे नहीं है इसका बात को सीआईसी में एनआईसी से यह स्पष्ट करने को कहा है | सीआईसी ने मंत्रालय और संबंधित विभागों से पूछा और कहां है कि ऐप से संबंधित सूचना देने में बाधा पैदा करने और गोलमाल उत्तर देने पर क्यों ना उसके खिलाफ आरटीआई एक्ट की धारा 20 के अंतर्गत जुर्माना लगाया जाए |
  • आरोग्य सेतु एप को लेकर सरकार की सफाई
    आरसीआई के द्वारा आरोग्य सेतु एप पर नोटिस जारी करने के बाद सरकार ने सफाई दी है सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रोनिक मंत्रालय ने कहा कि आरोग्य सेतु एप को पूरी पारदर्शी तरीके से विकसित किया गया है , हर समय पर यह स्पष्ट किया गया है कि एनआरसी ने उद्योग और शिक्षा जगत से जुड़े व्यक्तियों के मदद से इस ऐप को विकसित किया है | मंत्रालय ने कहा कि 2 अप्रैल , 2020 को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट करके ऐलान किया था | जिसमें स्पष्ट कहा था कि कोरोना महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई में भारत सरकार ने देश के लोगों को एक साथ लाने के लिए पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड में यह एप लॉन्च किया |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *