Pop Culture Hub

Web Shows

उत्तर प्रदेश में रोज़ आते है बलात्कार के मामले सामने, प्रशासन को नही कोई फिक्र

Rahul Raj- Liveakhbar desk

हमारे देश में एक तरफ जहां नारियों को मंदिरों में जगह दी गई है तो वहीं दूसरी ओर हाथरस और बालमपुर जैसी घिनौनी हरकत में भी नारी को हवस की भेंट चढ़ा दिया जा रहा है।यू॰पी॰ के हाथरस में जब गैंगरेप के बाद जब पीड़िता का अंतिम संस्कार के लिए भी उसके परिवार को उसकी पार्थिव शरीर के लिए भी पुलिस एवं प्रशासन के सामने खूब गिरगिराना पड़ा तो मानो एक आक्रोश की लहर दौड़ गई। लोगों ने लगातार पुलिस के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया और उनसे बार बार इसकी वजह भी पूछी परंतु मानो प्रशासन ने मुंह पर ताला लगा लिया था।

इस अमानवीय कृत्य की अवहेलना करने एवं पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ जैसा बर्ताव किया गया उसे देखकर यही लगता है कि अब इस देश में संवेदना व्यक्त करना भी अपराध है। जब राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचे तो उन्हें ग्रेटर नोएडा में रोक दिया गया और उनसे तीखी बहस एवं धक्का मुक्की की गई जिसका खंडन करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि प्रशासन लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ कर रहा है जिससे न्याय मर रहा है।

जिस प्रकार का व्यवहार कर पुलिस ने कार्यकर्ताओं एवं राहुल गांधी को हिरासत में ले लिया वह दर्शाता है कि प्रशासन की सहानुभूति ब्लिकुल न के बराबर है।

यहां तक कि प्रशासन ने आधी रात को ही पीड़िता के परिवार की मर्जी के खिलाफ अंत्येष्टि कर दिया जिससे अब और भी ज्यादा सवाल उत्पन्न हो गये‌ है और तो और पुलिस का यह भी कहना है कि फाॅरेनसिक जांच में भी रेप की पुष्टि नहीं की गई हैं।

इस पर हाईकोर्ट ने हाथरस के डीजीपी एवं एसपी समेत कई अन्य उच्च अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की और आगे की कार्रवाई की जांच के आदेश भी दिए हैं ।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status