MIT: देश मे फरवरी 2021 तक प्रति दिन 2.87 लाख कोविड मामले होंगे दर्ज

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) के एक अध्ययन ने यह भविष्यवाणी दिखाई है कि यदि कोरोना वैक्सीन जल्द ही नही मिलती, तो अगले साल तक भारत की स्तिथि गम्भीर जो जाएगी।अध्ययन के अनुसार, फरवरी 2021 के अंत तक, हर दिन भारत में 2 लाख 87 हजार कोरोना के केस दर्ज होंगे। यह अध्ययन 84 देशों के परीक्षण और मामले के आंकड़ों पर आधारित था। इसमें दुनिया की 60 प्रतिशत आबादी शामिल है।
अध्ययन MIT के शोधकर्ता हाज़िर रहमानद, टीआई लिमऔर जॉन स्टेरमैन द्वारा किया गया था । इसके लिए, उन्होंने महामारी विज्ञानियों द्वारा उपयोग किए गए SEIR(अतिसंवेदनशील, उजागर, संक्रामक, बरामद) मॉडल का उपयोग किया। अध्ययन के अनुसार, यदि कोरोना की वैक्सीन नही मिलती है, तो मार्च-मई 2021 में दुनिया भर में कोरोना मामलों की संख्या 20 से 60 करोड़ के बीच होगी।
अध्ययन के अनुसार, फरवरी 2021 के अंत तक, भारत कोरोना द्वारा सबसे अधिक हिट देशों की सूची में सबसे ऊपर होगा। इसके बाद अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और ईरान होंगे। यह अनुमान है कि एक दिन में 95,000 मरीज़ अमेरिका में, 21,000 दक्षिण अफ्रीका और 17,000 ईरान में दर्ज होंगे।


यह रिपोर्ट तीन मुख्य बिंदुओं पर आधारित है। पहला परीक्षण की वर्तमान दर और इससे प्राप्त होने वाली प्रतिक्रिया है, और दूसरा है यदि परीक्षण 1 जुलाई, 2020 से प्रति दिन 0.1 प्रतिशत बढ़ा है। तीसरा आधार यह है कि यदि परीक्षण वर्तमान स्तर पर जारी है, लेकिन संपर्क दर 8 तक जाता है जिसका अर्थ है कि एक व्यक्ति आठ लोगों को संक्रमित कर सकता है।
यह मॉडल कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए जल्द से जल्द और आक्रामक रूप से परीक्षण पर ध्यान केंद्रित करता है। यह भी सुझाव दिया गया है कि देर से और कम गति पर परीक्षण खतरनाक हो सकता है। अध्ययन में पाया गया कि परीक्षण में प्रति दिन 0.1 प्रतिशत की वृद्धि से रोगियों की संख्या कम हो जाएगी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *