January 22, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

सुप्रीम कोर्ट ने कलाकृतियों के संग्रह करने की याचिका खारिज की

सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम जन्मभूमी पर प्राप्त कलाकृतियों के संग्रह कर करने की याचिका खारिज

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को राम मंदिर के निर्माण के लिए राम जन्मभूमि स्थल पर समतल कार्य के दौरान कथित रूप से बरामद की गई चीजों के संग्रह करने की याचिका को खारिज कर दी है।

शीर्ष अदालत ने दोनों याचिकाकर्ताओं पर एक -एक लाख का जुर्माना भी लगाया है और उन्हें एक महीने के अंदर भुगतान करने को हिदायत दी है।

याचिका की निंदा करते हुए जस्टिस अरुण मिश्रा की खंडपीठ ने बी.आर. गवई और कृष्ण मुरारी ने कहा कि पांच-न्यायाधीशों वाली बेंच ने अपना फैसला पहले ही दे दिया है और यह PIL के जरिए फैसले को पलटने की कोशिश है।

याचिकाकर्ता दलित समुदाय के सदस्य थे जिन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि स्थल पर बरामद कलाकृतियाँ बौद्ध मूल की थीं और इसे संरक्षित किए जाने की आवश्यकता थी।

याचिकाकर्ताओं की ओर से पेश वकील ने कहा कि राम जन्मभूमि ट्रस्ट ने भी स्वीकार किया है कि इस क्षेत्र में कई ऐसे संरक्षण हैं, जिन्हें संरक्षण की आवश्यकता है, जिस पर खंडपीठ ने जानना चाहा कि संविधान के अनुच्छेद 32 के तहत सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता क्यों आए हैं ।

9 नवंबर को, एक शताब्दी से अधिक समय से चले आ रहे एक सालों से चले आ रहे मुकद्दमे का निपटारा करते हुए, सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसले में अयोध्या में विवादित स्थल पर एक ट्रस्ट द्वारा राम मंदिर के निर्माण का समर्थन किया, और फैसला सुनाया कि एक वैकल्पिक पांच एकड़ ज़मीन होना चाहिए एक ही शहर में एक मस्जिद के लिए मुस्लिम समुदाय को प्रदान की जाएगी।