Pop Culture Hub

Web Shows

फिल्मी स्टाइल में हुआ विकास का एनकाउंटर

कानपुर देहात के बिकरू गांव में 2 जुलाई को पुलिस विकास दुबे को गिरफ्तार करने गई थी। मगर विकास दुबे और उसके साथियों को पहले ही इस की खबर लग गई थी। विकास अपने साथियों के साथ पहले से ही घात लगा कर बैठा था। जैसे ही पुलिस विकास को पकड़ने पहुंची विकास और उसके साथियों ने फायरिंग शुरू कर दी जिसमें यूपी पुलिस के एक सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। विकास और उसके साथियों ने पुलिस के हथियार भी छीन लिए।
पिछले 7 दिनों से यूपी पुलिस और एसटीएफ की कई टीम मिलकर विकास की तलाश कर रही थी। मुठभेड़ में विकास के कई साथी मारे गए थे। 
विकास गुरुवार सुबह बाबा महाकाल के दर्शन करने आया था जहां से उज्जैन पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर यूपी पुलिस के हाथों सौंप दिया। देर शाम यूपी पुलिस और एसटीएफ उज्जैन से सड़क के रास्ते तीन गाड़ियों से कानपुर के लिए रवाना हुए।
यूपी पुलिस ने बताया कि सुबह 6:30 बजे करीबन जिस गाड़ी से विकास दुबे को ले जाया जा रहा था उसका एक्सीडेंट हो गया। इसी दौरान विकास ने एक जवान से पिस्तौल छीन कर भागने की कोशिश की, मगर पुलिस ने उसे घेर लिया और आत्मसमर्पण करने को कहा। मगर उसने गोलियां दाग दी जिसमें एसटीएफ के 2 जवान घायल हो गए। जवाब में पुलिस ने उस पर गोलियां चलाई जिसके बाद उसे तुरंत कानपुर के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status