सचिन को आउट करने के लिए हमनें पता नहीं कितनी मीटिंग करी हैं : नासिर हुसैन।

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने शनिवार को आईसीसी के एक पॉडकास्ट , ‘क्रिकेट इंसाइड आउट’

में इयान बिशप और एलमा स्मित से बात करते हुए बताया कि उनकी टीम को सचिन को आउट करने के लिए कई चर्चाएं और रणनीतियां बनाने के लिए मजबूर होना पड़ता था।
तेंदुलकर ने भारतीय क्रिकेट को अलविदा कहने से पहले लगभग ढाई दशकों तक अपना दबदबा कायम रखा और जाते-जाते बल्लेबाजी के कई रिकॉर्ड बनाए। सचिन एक दिवसीय और टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने और साथ ही 100 अंतरराष्ट्रीय शतक बनाने वाले एकमात्र खिलाड़ी बने।
हुसैन ने कहा ” कुल मिलाकर जब मैं अब तक के सभी बल्लेबाजों के बारे में बात करता हूं तो सचिन तेंदुलकर के पास सबसे बेहतरीन तकनीक थी। जब मैं इंग्लैंड का कप्तान था , तो मुझे याद नहीं आता कि हम टीम की कितनी बैठकों में चर्चाएं करते थे। 
हुसैन ने यह भी कहा कि ” मेरे लिए तकनीक ही सब कुछ है और मुझे ऐसे खिलाड़ी पसंद है जो हल्के हाथों से खेलें और गेंद को अपने पास आने दे। अगर वर्तमान की बात करें तो इस वक्त केन विलियमसन से बेहतर तकनीक शायद ही किसी के पास हो। T20 क्रिकेट खेलते हुए भी केन ने अपनी तकनीक को कायम रखा है।
ईयान बिशप ने कहा ” कि मैंने अब तक जितने भी बल्लेबाजों को गेंदबाजी करी है उनमें सबसे कठिन सचिन को गेंदबाजी करना रहा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status