ऑक्सफ़ोर्ड में बन रही कोरोना वैक्सीन ने किया सफल होने का दावा

विश्व स्तर पर यह 13.4 मिलियन के करीब बढ़ गया है और मृत्यु दर 6 लाख के करीब पहुंच रही है।

इसी कारण दुनिया भर में सभी बस अब यह इंतज़ार कर रहे है कि कहीं से भी एक वैक्सीन बन कर आ जाये। कई देशों के वैज्ञानिक 24 घन्टे वैक्सीन बनाने में लगे है। इसी होड़ में ब्रिटेन की ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में चल रहे वैक्सीन ट्रायल के शुरुआती नतीजे सफल आये है।

सफल हुए पहला ह्यूमन ट्रायल

ब्रिटेन के एक अखबार द टेलीग्राफ ने अपने आर्टिकल में बताया कि ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी के जेनर इंस्टिट्यूट में चल रहा कोरोना का ह्यूमन ट्रायल सफल रहा है। इसके शुरुवाती टेस्ट में यह कोरोना संक्रमित लोगो के शरीर मे वैक्सीन एन्टीबॉडी बनाते हुई दिखी।

कोरोना वैक्सीन के यह नतीजे इसकी पहली ट्रायल में ही सामने आ गए है। ह्यूमन ट्रायल जिन वालंटियर्स पर हो रहा था उनका शरीर एक ही ट्रायल के बाद एंटीबॉडी और टी बॉडीज बनाने लगे।

अभी नही है कोई स्पष्टीकरण

हालांकि अभी ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी ने किसी भी तरह की रिपोर्ट नही दिखाई है। ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी 20 जुलाई को अपनी रिपोर्ट सामने रखेगी और उसके बाद इस वैक्सीन के बारे मे सभी जानकारी देगी। 20 जुलाई को यह रिपोर्ट लसेंट जर्नल में पब्लिश होगा।

ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी ने इस वैक्सीन का ट्रायल अप्रैल में ही शुरू कर दिया था। तबसे अब तक 500 वालंटियर्स पर टेस्ट हो चुके है। अब तक यूनिवर्सिटी ने किसी चीज़ का खुलासा नही किया है।

सितंबर तक दुनिया भर को मिलेगी यह वैक्सीन

सूत्रों के मुताबिक अगर इस वैक्सीन का ट्रायल सफल हो जाता है तो सितंबर तक यह वैक्सीन सितंबर तक सभी देशों में उपलब्ध हो जाएगी। यह दुनिया के लिए एक राहत की खबर होगी। फार्मासुटिकल कंपनी एस्ट्रजेनेका कोरोना वैक्सीन को लेकर दुनिया भर की कंपनियों से संपर्क में है ताकि 2 अरब लोगों तक वैक्सीन आसानी से पहुंच सके।

1 thought on “ऑक्सफ़ोर्ड में बन रही कोरोना वैक्सीन ने किया सफल होने का दावा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *