अक्षय कुमार ने ‘धोनी’ बनने की कर ली थी जिद, तब कैसे सुशांत ने लगाया हेलीकॉप्टर शॉट !

Mohit Dixit

सदी के महान क्रिकेटर ‘महेंद्र सिंह धोनी’ का आज जन्मदिन है। इसी शुभ अवसर पर उनके संघर्ष और सफलताओं के ऊपर बनी फिल्म ‘MS Dhoni : The Untold Story’ के एक अनसुने किस्से को जानिये ।
 कम ही लोग जानते हैं कि जिस अक्षय कुमार की डेट्स मिलने को डायरेक्टर-प्रोड्यूसर लाइन लगाते हैं उन्हें खुद धोनी के रोल के लिए रिजेक्ट कर दिया गया था। दरअसल, धोनी के जीवन पर फ़िल्म बनाने का आईडिया धोनी के ही मैनेजर ‘अरुण पांडे’ को आया था। उन्होंने यह भी तय किया कि वह इस फ़िल्म को प्रोड्यूस भी करेंगे। निर्देशक के तौर पर अरुण की पहली पसंद ‘नीरज पांडे’ थे। नीरज उस वक़्त अक्षय कुमार के साथ फ़िल्म ‘बेबी’ की शूटिंग कर रहे थे। उन्होंने अरुण को सेट पर ही स्क्रिप्ट सुनाने को बुलाया। जब अरुण वहाँ पहुँचे तब अक्षय भी सेट पर ही मजूद थे। चूँकि धोनी की कहानी में हर किसी की दिलचस्पी होगी ही तो स्क्रिप्ट सुनाते वक़्त अक्षय कुमार भी नीरज और अरुण के साथ बैठे गए थे। नीरज ने स्क्रिप्ट सुनने के बाद तुरंत फ़िल्म के लिए हामी भर दी थी। उन्हें इस कहानी में बहुत पोटेंशियल दिखा और उन्होंने कहा – इस फ़िल्म को मैं ज़रूर डायरेक्ट करना चाहूँगा। 
नीरज के साथ साथ फ़िल्म की स्क्रिप्ट सुन रहे अक्षय कुमार को भी यह स्क्रिप्ट बहुत अच्छी लगी। उन्होंने तभी डायरेक्टर नीरज पांडे से कहा कि – इस फ़िल्म में लीड एक्टर वह ही करना चाहते हैं। 
अक्षय कुमार उस समय नीरज के साथ मल्टीप्ल प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे थे जिससे उनकी ट्यूनिंग बहुत अच्छी थी। इसी बात को ध्यान में रखते हुए अक्षय ने सोचा नीरज उन्हें ही इस फ़िल्म में लेंगे। कहा जाता है कि उन्होंने ‘धोनी’ बनने की ज़िद पकड़ ली थी। लेकिन नीरज पांडे फ़िल्म के साथ कोई मोल-भाव नहीं करना चाहते थे। उन्होंने अक्षय को समझाया कि वह पंजाबी फैमिली से आते हैं और धोनी का बिहारी एक्सेंट है जो उन्हें पकड़ने में मुश्किल होगी। साथ ही अक्षय की पर्सनालिटी धोनी के रोल में फिट नहीं बैठती। इस लिए नीरज ने उन्हें समझाते हुए यह भी साफ कर दिया कि वह इस रोल के लिए एक यंग लड़के को लेना चाहते है जिसकी पर्सनालिटी हु-ब-हु धोनी से मैच खाये। और उनके दिमाग में वह एक्टर काफी दिनों से है। 
नीरज यहाँ पर बात सुशांत सिंह राजपूत की कर रहे थे। उन्होंने उनका काम देखा हुआ था और वह उनको अपनी किसी फिल्म में कास्ट करना चाहते थे। नीरज ने सुशांत से इस फ़िल्म के लिए मुलाकात की और सुशांत ने यह फ़िल्म मुलाकात के 15 मिनट बाद ही साइन कर ली थी। सुशांत भी उसी जगह से आते हैं जहाँ से धोनी तो भाषायी अंतर न बराबर होता। सुशांत की बहन एक प्रोफेशनल क्रिकेटर हैं जिससे क्रिकेट के बेसिक्स सुशांत आसानी से सीख गए  और सुशांत का टास्क-परफ़ॉर्मर होना (यानी किसी भी रोल के पहले पूरी तैयारी करना) नीरज को अच्छा लगा।
फ़िल्म के प्रमोशन के वक़्त यह बताया गया कि सुशांत ने खुद महेंद्र सिंह धोनी से ट्रेनिंग ली है। वह उनके साथ ही महीनों तक रहे थे। ताकि धोनी के बोलने के हाव-भाव, चलने का तरीका आदि आदतों को खुद में उतार सकें। धोनी का मशहूर हेलीकॉप्टर शॉट सुशांत को खुद धोनी ने ही सिखाया था। सुशांत इस शॉट को सीखने के लिए एक दिन लगभग 250 बार अभ्यास किया करते थे। 
उनका यही डेडिकेशन दर्शकों को पर्दे पर दिखा। आज सुशांत को धोनी के नाम से जाना जाता है। साल 2016 में रिलीज हुई इस फ़िल्म ने बॉक्स-आफिस पर 200 करोड़ से अधिक की कमाई की जो दंगल के बाद किसी भी ‘बायोपिक’ फ़िल्म के लिए सर्वोत्तम है। 
अक्षय कुमार के सुनहरे दौर में उन्हें रिजेक्शन खुद उनके फेवरेट डायरेक्टर ने दिया। लेकिन अच्छी बात यह रही कि अक्षय-नीरज के सम्बंध बिल्कुल भी नहीं बिगड़े। उन्होंने इस फ़िल्म के बाद भी साथ काम किया। 
आपको क्या लगता है अगर इस फ़िल्म में अक्षय होते तो क्या यह फ़िल्म इतने परफेक्शन के साथ बन पाती? हमें अपनी राय कमेंट कर जरूर बताएं।
सिनेमा जगत की हर छोटी-बड़ी खबरों के लिए इंस्टाग्राम, फेसबुक और ट्विटर पर Filmybaapofficial  को फॉलो करें। 

1 thought on “अक्षय कुमार ने ‘धोनी’ बनने की कर ली थी जिद, तब कैसे सुशांत ने लगाया हेलीकॉप्टर शॉट !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *