US की खुफिया रिपोर्ट ने किया बड़ा खुलासा, चीनी जनरल ने दिया था गलवान घाटी पर हमले का आदेश

भारत और चीन का विवाद गम्भीर होता जा रहा है। चीन अभी भी अपनी गलती मानने को तैयार नही है। चीन कितना भी इस बात को नकार दे लेकिन धीरे धीरे सारी सच्चाई सामने आ ही जाएगी। हाल ही अमेरिका की इंटेलीजेंस एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि यह चीन की सोची समझी साजिश थी। विवाद के दौरान चीन के सबसे बड़ी पोस्ट के जनरल ने इसे खूनी झड़प बनाने का आदेश दिया था।

क्या कहती है अमेरिकन इंटेलीजेंस की रिपोर्ट
1.अमेरिका खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, जनरल झाओं झोंगकी जो चीनी सैनिकों के प्रमुख है, उन्होंने ही भारत पर हमला करने का आदेश दिया था। यह जनरल हमेशा से ही भारत के खिलाफ एक्शन लेते रहे है। इनका मानना है कि अमेरिका और उसके दोस्तों के सामने हमारा देश कमज़ोर न पड़े। भारतीय सेना और हमला उसी की एक चाल थी, जो उनपर ही उल्टी पड़ गयी।
2. अमेरिका की एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया कि यह चीन की पहले से सोची समझी साजिश थी। इसी झड़प में भारत के 20 सैनिकों की और चीन के 35 सैनिकों की मृत्यु हुई। यह बात चीन ने अभी भी स्वीकार नही की है। वह चाहता है कि भारत अपने पड़ोसी देशों में ही उलझा रहे ताकि अमेरिका से उसकी दूरी बनी रहे। 
3. इसके अलावा रिपोर्ट में यह बात भी बताई गई कि चीन ने गलवान घाटी में कई सारे हथियार इखट्टा कर रखे है। 15 जून के विवाद में कहा गया कि जब भारत के सैनिक बात करने चीनी सैनिकों के पास गए तो चीनी सैनिकों के पास पहले से हथियार थे। जैसे ही भारतीय सैनिक वहां पहुंचे उन्होंने हमला कर दिया। 
चीन नही है मानने को तैयार

इतना कुछ होने के बावजूद भी चीन ने भारतीय सैनिकों पर आरोप लगाया है। वे ये भी नही बता रहे कि उनके कितने सैनिकों की मौत हुई है। चीन की मीडिया ने भी इस विवाद के बारे में ज़्यादा नही छापा है। चीन ने अपने मारे गए सैनिकों के लिए एक मेमोरियल सर्विस भी रखी थी लेकिन इस बात को भी उन्होंने दबा दिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *