26 जून: आज के दिन हुआ था टूथब्रश का आविष्कार, जाने इसकी अनोखी कहानी

आज ज़माना ऐसा है कि लोग इलेक्ट्रिक टूथब्रश तक का इस्तेमाल करने लगे हैं। एक समय ऐसा था जब लोगो को टूथब्रश का मतलब भी नहीं पता होता था। कई साल लोग अलग-अलग तरीके से अपनाकर अपने दांतों को साफ करते थे। कई वर्षों के बाद टुटब्रश का सूचक हुआ। तो आइए जाने टूथब्रश की अनोखी कहानी-

कैसे बना पहला टूथब्रश?

आपको बता दे की 26 जून, 1498 को चीन में दुनिया का पहला टूथब्रश का डिस्काउंट किया गया था। चीन के एक सम्राट ने अपने इस्तेमाल के लिए टूथ ब्रश का अविष्कार किया और उसका पेटेंट करवाया। खास बात यह है कि इस टूथब्रश को जानवरों, विशेष रूप से सूअर के बालों से बनाया गया था। यह सुनकर आपको काफी अजीब लगेगा लेकिन हड्डी या बांस के टुकड़ों पर इन बालों को लगाया जाता है और फिर उसे ब्रश के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। जानवरों के बालों की वजह से यह टूथब्रश काफी ज्यादा सख्त भी थे।

1930 के बाद में श्वेत टूथब्रश बना

जब नायलॉन का अविष्कार हुआ उसके बाद 1930 के दशक में नायलॉन वाले ब्रश बनाने की प्रक्रिया शुरू की गई। अब ब्रश में जानवरों के बालों की जगह नायलॉन का इस्तेमाल किया जाने लगा। आपको बता दे कि पहला इलेक्ट्रिक टूथब्रश 1939 में बनाया गया था। आप जिस टूथब्रश को देखते है वैसा टूथब्रश 1950 के दशक में बन गया था। इसके बाद कई लोगो ने अपने तरह से टूथब्रश बनाये और आज के दिन हमारे पास हज़ारों विकल्प है।

टूथब्रश की अनोखी बाते- सुनकर रह जाएंगे हैरान

1. चीन से पहले ही आधुनिक टूथब्रश का आविष्कार इंग्लैंड के एक कैदी विलियम एडीज ने 1780 में ही कर लिया था। इसके बाद जब वह जेल से बाहार निकला तो उसने टूथब्रश की कंपनी खोली और वह काफी प्रचलित होगया।

2. टूथब्रश से पहले भारत समेत दुनिया में आमतौर पर दातून इस्‍तेमाल किया जाता था।

3. एक सर्वे में लोगों ने कहा कि वो टूथब्रश के बिना जीवन की कल्‍पना नहीं कर पाएंगे।

(Today’s history, toothbrush history)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status