25 जून: वह दिन जब उत्तर और दक्षिण कोरिया में शुरू हुआ था युद्ध, जाने कैसे हुए कोरिया के दो टुकड़े

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आज का दिन ऐसा दिन है जब उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच युद्ध की शुरुवात हुई थी। इन सब के पीछे एक बहुत ही बड़ा इतिहास है। आज का दिन दोनों ही देशों के लिए काले अक्षरो में लिखा जाएगा। तो आइए जानते है कि कैसे शुरू हुआ था दोनों देशों के बीच युद्ध-

1945 में जापान से मिली थी आज़ादी
आपको बता दें कि 1910 में जापान ने कोरिया पर कब्ज़ा कर लिया था। जापान के कब्ज़ा करने के बाद ही कोरिया ने अपनी आज़ादी की लड़ाई शुरू कर दी। साल 1939 से लेकर 1945 के दूसरे विश्व युद्ध मे अमेरिकी की दुश्मनी जापान पर भारी पड़ी थी। इस युद्ध मे जापान बुरी तरह से हार गया था। 36 साल बाद कोरिया को जापान से आज़ादी 1945 में मिली। 

आज़ादी के बाद कोरिया के हुए दो टुकड़े

जापान से आज़ादी पाने के बाद कोरिया में गृहयुद्ध जैसा माहौल बन गया था। आज़ादी के लिए कोरिया में जो दो मुख्य गुट बने थे वे एक दूसरे के दुश्मन बनने लगे। कोरिया के उत्तर के हिस्से में  किम इल संग के कम्युनिस्ट गुट को सोवियत संघ का समर्थन हासिल था। इसी के साथ साथ कोरिया के दक्षिण हिस्से में कम्यूनिस्ट विरोधी नेता सिगमन री के गुट को अमेरिका का समर्थन मिला हुआ था। इन दोनों गुटों में जब विवाद बढ़ता गया तो कोरिया के दो टुकड़े हुए- उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया।
1948 में हुआ दोनों देशों में विवाद
कोरिया के दो टुकड़े होने के बाद दोनों देशों में विवाद और भी ज़्यादा बढ़ता गया। साल 1947 में अमरीका ने संयुक्त राष्ट्र की मदद से कोरिया को वापस एक जुट करने की कोशिश की। अमेरिका के समर्थन के कारण सीगमन री ने पूरे कोरिया पर अधिकार जमा लिया और सियोल में रिपब्लिक ऑफ कोरिया के गठन की घोषणा की। वही दूसरी तरफ घोषणा के 25 दिन बाद ही किम इल संग ने भी प्यांगयांग में डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया के गठन की घोषणा कर के पूरे कोरिया पर अपने अधिकार का ऐलान कर दिया। 
25 जून: उत्तर कोरिया का दक्षिण कोरिया पर हमला
दक्षिण कोरिया उत्तर कोरिया के साथ बातचीत कर के विवाद खत्म करना चाहता था। लेकिन उसी समय 25 जून,1950 में उत्तर कोरिया के शाशक किम इल संग ने सोवियत यूनियन की मदद से दक्षिण कोरिया पर हमला बोल दिया। जिस तरफ सोवियत यूनियन उत्तर कोरिया के साथ था वहीं दूसरी तरफ अमेरिका दक्षिण कोरिया के साथ था। यह युद्ध 3 साल तक चला जसमे लाखो लोगों की जान चली गयी।

1953 को खत्म हुआ युद्ध

3 साल बाद 27 जुलाई, 1953 को दोनों देशों के बीच युद्ध खत्म हुआ। कई देशों ने उन्हें समझाया और फिर जाकर दोनो देशों ने शांति ली। तीन साल तक चलने वाला यह युद्ध कई मासूमो की जान ले गया। और आज भी दोनों देशों के बीच किसी न किसी प्रकार का विवाद बना ही रहता है। उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया की सीमा ढाई मील की तारबंदी से एक दूसरे को अलग करती है। इसे दुनिया की सबसे ख़ौफ़नाक सीमा मानी जाती है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *