Pop Culture Hub

Web Shows

करण जौहर के साथ शाहरुख खान भी आए नेपोटिज्म के आरोपों के घेरे में!

सुशांत के निधन के बाद नेपोटिज्म के बहस को लेकर बाज़ार गर्म हैं। इसी में दिवंगत एक्टर इंदर कुमार की पत्नी पल्लवी सामने आई और उन्होंने कुछ चौंकाने वाले किस्से बताए जिसमें उन्होंने बताया कि इंदर किस तरह फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म का शिकार हुए थे। 

आपको बता दें कि इंदर कुमार ने साल 1990 में फिल्म ‘मासूम’ से बॉलीवुड इंडस्ट्री में डेब्यू किया था। लेकिन इन्हें पहचान सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ से मिली थी। इंडस्ट्री में बिना किसी के सपोर्ट के भी इंदर ने कई शानदार फिल्में की और फैन्स को साबित किया कि वह एक अच्छे अभिनेता हैं।

इंदर की पत्नी पल्लवी ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट साझा की जिसमें लिखा – ‘आजकल हर कोई नेपोटिज्म पर बात कर रहा है। नेपोटिज्म, सुशांत सिंह राजपूत की तरह ही मेरे पति दिवंगत इंदर कुमार ने भी बिना सपोर्ट के इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाई थी। 90 के दशक में वह अपने करियर के पीक पर थे। दम तोड़ने से पहले मुझे याद है वह इंडस्ट्री के दो बड़े लोगों से मिलने के लिए गए थे, क्योंकि वह काम की तलाश कर रहे थे।’

इसके आगे उन्होंने लिखा – ” ऐसे तो वो कुछ छोटे प्रोजेक्ट्स में काम कर रहे थे, लेकिन वो बड़ी फिल्मों में काम करना चाहते थे, जैसे उन्होंने अपने शुरुवाती दिनों में किया था।
इंदर, करण जौहर के पास गए, मैं भी उनके साथ थी। सभी चीजें मेरे सामने हुईं। करण जौहर ने पहले तो हमें दो घंटे बाहर इंतजार कराया इसके बाद उनकी मैनेजर गरीमा बाहर आईं और कहा कि करण बिजी हैं। हमने फिर भी उनका इंतजार किया और जब वह बाहर आए तो उन्होंने कहा कि इंदर तुम गरीमा के टच में रहना, अभी तुम्हारे लिए कोई काम नहीं है। और इंदर ने उनकी बात सुनी। इसके 15 दिन बाद इंदर ने फोन करके गरीमा से पूछा तो फिर से वही जवाब मिला कि काम नहीं है। इसके बाद इंदर को ब्लॉक कर दिया गया। “

पल्लवी ने शाहरुख खान का भी नाम लेते हुए लिखा – “जब इंदर ‘जीरो’ फिल्म के सेट पर शाहरुख से मिलने गए तो उन्होंने भी इंदर को वही जवाब दिया जो करण ने दिया था। उन्होंने भी अपनी मैनेजर से कॉन्टैक्ट करने के लिए कहा। शाहरुख की मैनेजर पूजा से फोन कर पूछा तो उन्होंने भी इंदर को यही कहा कि काम नहीं है। “

क्या कोई अंदाजा लगा सकता हैं कि इन दोनों बड़े प्रोडक्शन हाउस में कोई काम न हो। उन्होंने आगे कहा कि उनके पति एक स्टार थे, और लोग उन्हें आज भी उनके काम की वजह से याद रखते हैं।

पल्लवी कहती हैं कि बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना इसलिए मुश्किल होता है क्योंकि टैलेंटेड एक्टर्स को काम मिलता ही नहीं है। बड़े एक्टर्स उनसे डरते हैं कि कहीं वे उनकी जगह न ले लें। नेपोटिज्म पर रोक लगनी चाहिए और सरकार को इसके खिलाफ सख्त एक्शन लेने चाहिए।

इंदर कुमार को बॉलीवुड इंडस्ट्री में उनकी फिल्म
‘गजगामिनी’ और ‘खिलाड़ियों का खिलाड़ी’ के लिए जाना जाता है। उन्होंने सलमान खान के साथ उनकी फिल्म ‘वांटेड’ में भी उनके दोस्त का किरदार निभाया था। इसके अलावा वे सलमान की फिल्म ‘तुमको ना भूल पाएंगे’ और ‘कहीं प्यार ना हो जाए’ में भी नजर आ चुके हैं।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status