January 23, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

हर साल की रथयात्रा से काफी ज्यादा अलग होगी इस बार भगवान जगन्नाथ पुरी की यात्रा, जानिए कैसे

इस बार की रथयात्रा हर साल की रथयात्रा से काफी ज्यादा अलग होने वाली है। कोरोना माहमारी के बीच आज भगवान जगन्नाथ पुरी की रथयात्रा निकाली जा रही है। पिछले कई सालों में हो रही यथयात्रा इस साल की तरह नही थी। भगवान जगन्नाथ, सुभद्रा और बलराम की यात्रा में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की मौजूदगी नही रहेगी। कल रात 9 बजे से पुरी में कर्फ्यू लगा हुआ है।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार पुरी के सभी गेट्स को सील कर दिया गया है। पहली बार ऐसा हो रहा है कि जगन्नाथ जी की रथयात्रा निकल रही है और एक भी श्रद्धालुओं की मौजूदगी नही रहेगी।

कैसे होगी इस बार की यात्रा बिल्कुल अलग
1. सुप्रीम कोर्ट ने जब रथयात्रा निकालने की इजाज़त दी थी तब उन्होंने यह आदेश भी दिया था कि यात्रा निकलने से पहले सभी रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डे, बस स्टैंड, हाईवे के साथ साथ शहर में एंट्री बन्द हो जायेगी।
2. रथयात्रा में तीनों भगवान के लिए तीन रथ होते है। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि प्रति रथ 500 से ज़्यादा लोग उसे खिंचने के लिए नही होने चाहिए। हर इंसान के बीच सोशल डिस्टेंस होना चाहिए।
3. रथयात्रा के समय पारम्परिक अनुष्ठान के लिए भी सिर्फ ज़रूरी लोगो को आने की इजाज़त होगी। वही लोग शामिल होंगे जिनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आयी होगी। मंदिर के कमिटी वाले, अधिकारी और पुलिस बल भी इसमे शामिल रहेगा।
Source- ANI, News agency
4. इन सभी शर्तो की सबसे बड़ी जिम्मेदारी जगन्नाथ मंदिर के हेड की होगी। राज्य सरकार द्वारा अधिकारियों को भी इन नियमो को लागू करने के लिये चुना गया है।
5. अहमदाबाद में भवगान जगन्नाथ जी की रथयात्रा मंदिर से ही शुरू हो रही है। मंदिर में एक बार मे सिर्फ 10 लोगों को दर्शन करने की अनुमति होगी।
6. अहमदाबाद में विजय रुपाणी, मुख्यमंत्री ने सोने की झाड़ू से झाड़ू लगाकर रथयात्रा की शुरुवात की। इस मौके पर सिर्फ़ मंदिर के पंडित और कर्मचारी मौजूद थे।
7. इसके अलावा कोलकाता में भगवान जगन्नाथ पुरी की यात्रा पहली बार ट्रक पर निकाली जा रही है।
8. पश्चिम बंगाल में रथयात्रा के अवसर पर आज पहली बार सार्वजनिक छुट्टी की घोषणा की गई है।