Pop Culture Hub

Pop Buzz

असम का एक रहस्यमय गांव, जहां पक्षी करते है झुंड में आत्महत्या

असम में एक ऐसा गांव है जिसे लोग “बर्ड सुसाइड विलेज” के नाम से भी जानते है। हर साल यहां हज़ारों में पक्षी आते है और आत्महत्या करते है। विश्व भर में यह गांव इस रहस्यमय घटना के कारण काफी ज्यादा प्रसिद्ब हो गया है।

जतिंगा- सुसाइड ऑफ बर्ड विलेज


असम के इस गांव का नाम जतिंगा है। अगर आप कभी रास्ते मे देखे की कई पक्षी मरे पड़े है तो आपको लगेगा कि यह किसी ज़हरीली गैस के कारण या किसी का शिकार बन गए है। लेकिन यह बात जतिंगा में सच नही है। जतिंगा असम के उत्तरी काछार में स्तिथ एक गांव है। हर साल दुनिया भर से लोग यहां घूमने आते है। मानसून के दौरान जब गांव में कोहरा रहता है तब पक्षियां यहां आकर आत्महत्या करती है। यह घटना सिर्फ कोहरा वाले मौसम में होती है। कभी कभार अमावस में भी कोहरे के टाइम पर यह घटना देखने मिलती है। यह हमेशा शाम के 7 बजे से लेकर 10 बजे के बीच होती है।

अकेले नही समूह में होती है आत्महत्या
हैरान कर देने वाली बात यह है कि पक्षी अकेले नही बल्कि समूह मे आत्महत्या करते है। सिर्फ एक प्रजाति का ही नही बल्कि वहां मिलने वाले सभी प्रजाति के पक्षी आत्महत्या करते है। जैसे-किंगफ़िशर, टाइगर बाईटीन।

क्यों होती है एक साथ इतने पक्षियों की मौत?

जतिंगा गांव में पक्षियों की आत्महत्या को लेकर अब तक कोई सही उत्तर नही मिल पाया है। यह अभी भी एक रहस्य ही है। कई सारे लोगो ने अपने तर्क दिए है लेकिन कोई भी सही साबित नही होता है। स्थानीय निवासी इसे भूत प्रेत से जोड़ते है। कई पक्षी वैज्ञानिकों का यह मानना है कि यह एक चुम्बकीय शक्ति के कारण होता है। जब बारिश के मौसम में तेज़ी से हवा बहती है तो रात के अंधेरे में पक्षी रोशनी के पास उड़ने लगते है। इस समय पक्षी काफी मदहोशी से उड़ते है और तेज़ी से उड़ने के कारण वे पेड़ या कई अन्य चीज़ों से टकरा कर मर जाते है।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status