January 18, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद क्या फिर से ट्रम्प बन पाएंगे राष्ट्रपति?

पिछले कुछ हफ़्तो से अमेरिका को हालत काफी ज्यादा गंभीर है। एक तरफ कोरोना महामारी की समस्या है तो दूसरी तरफ जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद लोगो का गुस्सा कम नही हो रहा है। ऐसे मे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प मुसीबतों से घिरे हुए है। इतने गंभीर संकटो के बीच मे उन्हें अपनी चुनाव का प्रचार करने के लिए उतारना पड़ रहा है। उनका राष्ट्रपति पद कई संकटो से घिरता जा रहा है। ऐसे मे यह उम्मीद की जा रही है कि उनके लिए दूसरी बार राष्ट्रपति बनने का पद काफी चुनोतियो भरा होने वाला है।

डोनाल्ड ट्रम्प काफी सुलझे हुए नेता माने जाते है। चार साल  पहले उन्होंने राजनीति मे कदम रखा था। धीरे धीरे उन्होंने अपनी पार्टी का राष्ट्रपति पद जीता और फिर अमेरिका के राष्ट्रपति की रेस मे भी अव्वल आये। वह समय ट्रम्प कभी नही भूल पाएंगे। 2015 जुलाई का वह समय था जब ट्रम्प सभी विवादों से दूर रहकर अपने पद पर ज़्यादा ध्यान देते थे।

इस बार का चुनाव होगा मुश्किल

लेकिन इस साल उनके लिए चुनाव काफी कठिन साबित होने वाला है। जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका ही नही पूरी दुनिया दुख जता रही है। ऐसे मे ट्रम्प ने कई ऐसे बयान दिए है जो उनके चुनाव के लिए काफी घातक साबित हो सकते है। लोगो मे सरकार को लेकर काफी गुस्सा है। इस बार 2015 जैसा चुनाव नही होगा, सभी लोग ट्रम्प को बखूबी जानते है इसलिए उनके लिए इस बार काफी मुश्किलें आएंगी। ट्रम्प आज कल विवादों में काफी ध्यान दे रहे है। वे इससे अपना प्रचार करने की कोशिश कर रहे है जो और मुश्किलें खड़ी कर रहा है।

ट्रम्प आजकल कई विवादों को हवा दे रहे है, समाजिक मुद्दों पर संघर्ष की बातें कर रहे है और उकसा रहे है, षड्यंत्रकारी सिद्धांतों को बढ़ा रहे हैं और किसी भी तरह की आलोचना का जवाब आलोचना से ही दे रहे हैं।

क्या जो बाइडेन बनेंगे अगले राष्ट्रपति?


ऐसा अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि अगर डोनाल्ड ट्रंप के हाथ से राष्ट्रपति का पद छीन जाता है तो जो बाइडेन इसके अगले उमीदवार माने जा सकते है। जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद जो बाइडेन काफी चर्चा मे आ रहे है। माना जा रहा है कि राष्ट्रपति पद के लिए यह काफी मजबूत साबित हो रहे है। फ्लोयड की मौत के बाद इन्होंने काफी प्रचार बटोर लिया है। इन्होंने 2009 से 2017 तक उपराष्ट्रपति का पद संभाला।