January 17, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

फिच रेटिंग ने भारत की अर्थव्यवस्था के बारे में जताई बड़ी संभावना

फिच रेटिंग(Fitch ratings inc) एक अमेरिकी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी है, जो कि विश्व की तीन सबसे बड़ी रेटिंग कंपनी में से एक है, जिसके ज़रिए एक रिपोर्ट में ऐसा कहा गया है कि आने वाले वर्ष में भारत की अर्थव्यवस्था के बढ़ने की दर 9.5 प्रतिशत के तक हो सकती है। हालांकि कॉरोना संकट के इस समय में 5 मार्च से लगातार विश्व के सबसे बड़े लौकडाउन को झेलते हुए भारत की अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है। भारतीय रिज़र्व बैंक के द्वारा भी इस बात को स्पष्ट कर दिया था कि इस वर्ष 2020 के अंत तक यह स्थिति जारी रहेगी और अर्थव्यवस्था में शून्य की दर से बदलाव होगा। 

लेकिन इस संकट के काल में विश्व की अर्थवयवस्थाओं के चरमरा जाने से, बहुत बुरी स्थिती सामने आ गई है। करोड़ों नौकरियां जा चुकी हैं, अन्य पर खत्म होने की तलवार लटक रही है। मजदूरों और किसानों को सबसे ज़्यादा नुक़सान हुआ है। इसके अलावा बड़े बड़े उद्योगों की भी हालत खस्ता है। इस संकट के दौर में इस प्रकार की खबर आना एक अच्छे समय की ओर संकेत कर रहा है।
फिच रेटिंग्स ने बुधवार को जारी एपीएसी सॉवरिन क्रेडिट ओवरव्यू में कहा, “महामारी ने भारत के विकास के दृष्टिकोण को काफी कमजोर कर दिया है और उच्च सार्वजनिक-ऋण के बोझ से उत्पन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ा है।” 
 “वैश्विक संकट के बाद, भारत की जीडीपी वृद्धि ‘बीबीबी’ श्रेणी के साथियों की तुलना में उच्च स्तर पर लौटने की संभावना है, बशर्ते यह महामारी के परिणामस्वरूप वित्तीय क्षेत्र के स्वास्थ्य में और गिरावट से बचा जाए,” यह 9.5 प्रतिशत वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद का अनुमान लगाता है अगले वर्ष के लिए।