January 25, 2021

Live Akhbar

Pop Culture Hub

क्रिकेट टीम की सफलता का मंत्र – अनेकता में एकता

हाल ही में अमेरिका में अफ्रीकी George Floyd की मृत्यु एक पुलिस अधिकारी द्वारा गला दबाने पर दम घुटने के कारण हुई। उनकी मौत के बाद रंगभेद पर चर्चा हुई जिस पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने व्यक्त किया कि क्रिकेट  विविधता का एक बहुत बड़ा उदाहरण है।

कई सारी ऐसी टीमें हैं जिनमें दूसरे देशों के खिलाडी बड़ी ही कर्तव्यनिष्ठा से अपना उन्दा प्रदर्शन देते हैं।
ऐसी ही विविधता को दर्शाते हुए ICC ने 90 सेकेंड की 2019 विश्व कप की एक वीडियो क्लिप पोस्ट की है जिसमें न्यूज़ीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड के खिलाडी  Jofra Archer, जिनका जन्म बारबाडोस में हुआ है, वह सुपर ओवर कर रहे हैं।
इंग्लैंड का एक समय पर कप्तान Eoin Morgan था जो की एक आयरिश व्यक्ति था, और इस दरमियां इंग्लैंड ने वनडे विश्व कप हासिल किया था। न्यूजीलैंड में पैदा हुए ऑलराउंडर Ben Stokes भी इंग्लैंड के होनहार खिलाड़ियों मेंसे एक है। यही नहीं, इंग्लैंड के स्पिनर Moeen Ali और Adil Rashid पाकिस्तानी मूल के थे और उसका एक सलामी बल्लेबाज Jason Roy दक्षिण अफ्रीकी मूल का था। 
आईसीसी ने कहा कि क्रिकेट जैसे खेल में रंगभेद ना कभी हुआ है, और ना ही कभी आगे हुआ जाना चाहिये।
कुछ दिन पहले रंगभेद पर वेस्टइंडीज के ओपनर Chris Gayle एवं टी20 विश्व कप विजेता कप्तान Darren Sammy ने भी अपने विचार व्यक्त किये और कहा था कि यह किसी भी खेल या देश के लिए उचित नहीं है। Darren ने कहा था कि अगर क्रिकेट जगत रंगभेद के खिलाफ खड़ा नहीं होगा तो उसे भी इस समस्या का हिस्सा माना जाएगा।