क्यों रखा गया है एक सीरियल किलर का 175 साल पुराना सिर एक जार मे?

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बताया जाता है कि यह पुर्तगाल का सीरियल किलर जिसका नाम डियोगो एल्वेस पुर्तगाल का पहला सीरियल किलर था। डियोगो का जन्म 1810 मे गलिसिया मे हुआ था। बचपन मे ही वह लिस्बन चला गया था जहां वह घरों मे नौकर का काम करता था।
वहां पहुंचने के बाद उसे यह समझने मे ज़्यादा समय नही लगा की नौकर का काम करने से बेहतर है कि वह गलत तरीको से पैसे निकाले। उसे समझ आने लगा कि अपराध करने से बिना किसी मेहनत के पैसे आ जाएंगे। इसी कारण 1836 मे वह लिस्बन दूसरी जगह, एक्विडक्ट चला गया।

कैसे बना सीरियल किलर?
रात मे एक्विडक्ट से कई सारे किसान अपने घर लौटते थे। एल्वेस वहां रात होने तक का इंतज़ार करता था। रात होने पर वह उन किसानों को लूट लेता था। उसके बाद वह सभी किसानों की 213 फुट एक ब्रिज से फेंक देता था और उन सभी की मृत्यु हो जाती थी। 1836 से लेकर 1839 के बीच मे उसने यही ट्रिक करीब 70 बारे अपनायी। पुलिस को लगा कि किसान यहां से आत्महत्या कर रहे है इसलिए उन्होंने ब्रिज को बंद करवा दिया।

इसके बाद उसने 4 लोगो की एक टीम बनाई और लूटने का काम जारी रखा। एक दिन एक डॉक्टर के घर मे जब वह चार लोगो को मारने के लिए घुसे थे तब पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। एल्वेस को फांसी की सजा दी और उसकी मौत हो गयी।

क्यों रखा गया सिर एक जार मे?
यह कहानी यही खत्म नही होती, दिलचस्प बात तो यह है कि वैज्ञानिक एल्वेस के सिर की जांच करना चाहते थे। वे जानना चाहते थे कि उसके अपराधी दिमाग के पीछे क्या कारण था। इसी कारण उसका अंतिम संस्कार करते वक़्त उसके शरीर से उसका सिर हटा दिया गया और एक जार मे रखा गया। तबसे एल्वेस का सिर उस जार मे ही है।

यह जार अब लिस्बन विश्वविद्यालय के मैडिसन विश्वविद्यालय मे रख गया है।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *