आखिर क्यों बढ़ा रहा है चीन भारत से झगड़ा?

चीन अपनी हरकतों से कभी बाज़ नही आता। भारत-चीन सीमा के विवाद के बाद भी चीन भारत से झगड़ा बढाने की कोशिश कर रहा है। चीन बार बार भारत को झगड़ा करने के लिए उकसा रहा है। इसके पीछे कई कारण है कि चीन ऐसा क्यों कर रहा है। तो आइए जाने चीन क्यों विवादों में पड़ने की कोशिश कर रहा है-

1. सीमा पर भारत कर रहा है सड़क निर्माण, चीन देखकर बौखला गया

पिछले कुछ दिनों से भारत चीन से जुड़ी लद्दाख और अरुणाचल की सीमा पर सड़के बना रहा है। इसका काम काफी तेजी से चल रहा है। भारत का बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन इस चीज़ पर काफी जल्दी काम कर रहा है। इसी बात से चीन बौखलाया हुआ है। रोड के निर्माण को रोकने हेतु चीनी सैनिक 5 मई को सीमा की इस पर आ गए थे। इसके बाद दोनों पक्षो के बीच एक झड़प हुई थी। उसके बाद से चीन शांत नही बैठा है कभी हेलीकॉप्टर सीमा के इस पर ले आता है तो कभी गलवान घाटी में टेंट बना लेता है। चीन नही चाहता की भारत का सीमा पर ज़्यादा प्रभाव हो। 

2. भारत का POK पर बढ़ता दबाव 

भारत ने जम्मू कश्मीर के POK वाले हिस्से से अब तक आतंकवादियो का सफाया कर दिया है। अगर भारत POK को आज़ाद करके अपने देश मे शामिल करता है तो पाकिस्तान से ज़्यादा परेशानी चीन को होगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि पाकिस्तान ने POK का एक अहम हिस्सा अवैध रूप से चीन को सौंप रखा है। POK का गिलगिट-बाल्टिस्तान का अहम हिस्सा चीनियों को अवैध रूप से मिला हुआ है। इस जगह को आप दुनिया का स्वर्ग मान सकते है। यहां भारी मात्रा में नेचुरल रिसोर्स है। यहां चीनी सैनिकों की आवाजाही दिखती रहती है। चीन यहां से पेट्रोल के काम का निर्माण शुरू करना चाहता है, अगर यह हिस्सा भारत को मिल गया तो उनके आगे का और मजबूत देश होने का सपना टूट जाएगा।

3. लद्दाख के प्राकृतिक संसाधनों (natural resources) पर है नज़र

पहले चीन अरुणाचल प्रदेश की सीमा को लेकर विवाद खड़ा करता था लेकिन अब उसका अगला निशाना लद्दाख हो गया है। लद्दाख में प्राकृतिक संसाधनो का भंडार है। चीन इस जगह को हड़पना चाहता है। लद्दाख की पहाड़ियों में यूरेनियम की बहुत ही अछी मात्रा और सोने की भी अच्छी मात्रा छिपी हुई है। इसके अलावा वहां बिजली बनाई जा सकती है, परमाणु बम का निर्माण किया जा सकता हैं। चीन ऐसी प्राकृतिक संसाधनों के भंडार को हड़पना चाह रहा है।

4. चीन को माना गया है कोरोना माहमारी का दोषी

पूरी दुनिया के लगभग सभी देशों ने चीन को कोरोना माहमारी का दोषी कगार किया है। सभी देश आप चीनी सामानों का बहिष्कार भी करने लगे है। ऐसे में चीन के ऊपर एक बहुत ही बड़ी विप्पति खड़ी है। कई सारी ग्लोबल कम्पनीज अब चीन से अपना नाता तोड़कर भारत मे कम्पनीज खोलना चाह रही है। कई कम्पनीज ने तो यह काम शुरू भी कर दिया है। दुनिया के सभी लोगो के सामने अपनी नाक बचाने के लिए अब चीन गलत तौर तरीके अपना रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *