असम में 23 जिलों मे बाढ़ का कहर, 9 लाख की आबादी प्रभावित

असम राज्य में देर रात बाढ़ आने के कारण 23 जिले प्रभावित हुए है। इस बाढ़ के कारण 23 जिलो में 9 लाख आबादी को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा हैं। ASDMA ने कई लोगो को शेल्टर होम्स में पहुंचाया है। बाढ़ के कारण अब तक 18 लोगो की मौत हो गयी है। देर रात में दो और लोगो की मौत की खबर सामने आई है।

कौनसे जिले हुए है प्रभावित?

ASDMA (असम स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट ऑथोरिटी) ने बताया कि धेमाजी, लखीमपुर, बिश्वनाथ, उदलगुरी, दर्रांग, नालबारी, बारपेटा, बोंगाईगांव, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सलमारा, गोलपारा, कामरूप, मोरीगांव, होजई, नागांव, नागालोन, नौगांवा, माजुली, शिवसागर, डिब्रूगढ़, तिनसुकिया और पश्चिम कार्बी जिलो में स्तिथ 9 लाख लोग इस बाढ़ से प्रभावित हुए है।

बारपेटा जिले का है बुरा हाल

इन सभी जिलों में बारपेटा गान सबसे ज़्यादा बुरे हाल मे है। आपको बता दे कि यहां 1.35 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित हो चुकी है। इसके अलावा धेमाजी में करीब एक लाख और नालबारी में 96 हजार से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। पिछले 24 घंटे के अंदर एसडीआरएफ, जिला प्रशासन समेत तमाम एजेंसियों ने पांच जिलों में 9,303 लोगों को बाढ़ की चपेट में आने से बचाया है।

ASDMA कि रिपोर्ट

ASDMA की रिपोर्ट के मुताबिक, बाढ़ की चपेट में 2071 गांव आ चुके है और 68 हजार हेक्टेअर से अधिक फसल बर्बाद हो चुकी है। ASDMA ने 12 जिलों में 193 रिलीफ कैंप और डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर बनाए है। इसके अलावा 27 हजार से अधिक लोगों को शेल्टर होम में रखा गया है।

बढ़ रहा है ब्रह्मपुत्र नदी में पानी- खतरे की घण्टी


असम में ब्रह्मपुत्र नदी में भी पानी लगाातर बढ़ते हुए खतरे के निशान पर पहुंच गया है। राज्य सरकार की चिंता को देखते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनवाल और स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा से बात कर हालात की जानकारी ली। कई जिलों में ब्रह्मपुत्र नदी का पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *