अब दवा के लिए चीन मे नही होगा पैंगोलिन का इस्तेमाल

चीन मे नही होगा दवा के लिए पैंगोलिन का इस्तेमाल

चीन ने आज परम्परागत चिकित्सा उपचार मे से पैंगोलिन का नाम हटा दिया है। चीन मे पैंगोलिन का इस्तेमाल सिर्फ मास के लिए ही नही बल्कि दवाइयां बनाने मे भी होता है। चीन ने अपनी परंपरागत चिकिस्ता उपचार की सूची मे से पैंगोलिन का नाम हटा दिया है। इसके बाद पैंगोलिन का शिकार कम होने की आशंकाएं है।

क्यो होता है पैंगोलिन का दवाइयों में इस्तेमाल?
दुनिया भर मे पैंगोलिन की तस्करी सबसे ज़्यादा होती है। पैंगोलिन के शरीर मे जो स्केल्स पाए जाते है उससे चीन मे दवा बनती है। कई लोगो को इसका मांस काफी स्वादिष्ट भी लगता है। क्योंकि इसकी तस्करी दुनियाभर मे सबसे ज़्यादा होती है इसलिए इसकी 8 प्रजातियां विलुप्त होने की कगार मे है।

वन्य जीव संरक्षण से जुड़े लोग इस खबर को सुनने के बाद काफी ज्यादा खुशी जता रहे है। उन्होंने बताया कि जहां एक स्तनपायी जीव विलुप्त होने की कगार मे है, चीन ने यह फैसला लेकर बहुत अच्छा काम किया है। हम इस फैसले का खुले दिल से स्वागत करते है। कई वैज्ञानिक ऐसा भी मानते है कि पैंगोलिन के कारण ही इंसानो मे कोरोना वायरस आया था। लेकिन अभी इस बात की कोई पुष्टि नही हुई है। वैज्ञानिक अभी भी इसकी खोज कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *